मध्यप्रदेश: नोटा ने रखा बीजेपी को सत्ता से बाहर, इन 11 सीटों पर हराया

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 दिसंबर): मध्यप्रदेश में कांटे की टक्कर देने के बाद शिवराज चौहान को हार का सामना करना पड़ा। हालांकि कांग्रेस को भी यहां पर बहुमत नहीं मिला और वह भी 114 सीटों पर रही, लेकिन सपा, बसपा और निर्दलीय के समर्थन से वह प्रदेश में सरकार बनाने में कामयाब रही। बीजेपी की हार के पीछे जब सही विश्लेषण किया गया तो पता चला कि उसके सही उम्मीदवरी के चयन के कारण उसे करीब 11 सीटों पर हार का सामना करना पड़ा।

हालांकि यह सिर्फ बीजेपी के साथ ही नहीं हुआ, कांग्रेस ने भी सही से टिकट बंटवारा नहीं किया था। जो 4 निर्दलीय विधायक जीतकर आए हैं, वह सभी कांग्रेस के बागी थे और अगर उनको टिकट दिया गया होता तो कांग्रेस अकेले अपने दम पर बहुमत हासिल कर सकती थी। शिवराज सरकार को प्रदेश में 15 साल तक सत्ता पर बने रहने की नाराजगी झेलनी पड़ी, लेकिन उम्मीदवारों का चयन भी उसको सत्ता की कुर्सी से दूर करने के तौर पर देखा जा रहा है।

इस बार लोगों ने सही उम्मीदवार नहीं होने के कारण नोटा को जबरदस्त दबाया, जिसका सबसे ज्यादा असर बीजेपी पर पड़ा है। ऐसी कई सीटें हैं, जहां बीजेपी उम्मीदवारों की हार के अंतर से ज्यादा वोट नोटा को मिले हैं। यहां हम आपको ऐसी 11 सीटों को ब्योरा दे रहे हैं, जहां बीजेपी उम्मीदवारों की हार के अंतर से ज्यादा वोट नोटा को मिले हैं।ब्यावराकांग्रेस- 75569, बीजेपी- 74743 अंतर- 827 नोटा- 1481बुरहानपुरनिर्दलीय- 98561 बीजेपी- 93441 अंतर- 5120 नोटा- 5726दमोहकांग्रेस- 78997, बीजेपी- 78199 अंतर- 798 नोटा- 1299गुन्नौरकांग्रेस- 57658, बीजेपी- 55676, अंतर- 1985, नोटा- 3734जबलपुर नॉर्थकांग्रेस- 50045, बीजेपी- 49467, अंतर- 578, नोटा- 1209जोबटकांग्रेस- 46067, बीजेपी- 44011, अंतर- 2057, नोटा- 5139मांधाताकांग्रेस- 71228, बीजेपी- 69992, अंतर- 1237, नोटा- 1575नेपानगरकांग्रेस- 85320, बीजेपी- 84056, अंतर- 1265, नोटा- 2551पेटलावादकांग्रेस- 93425 बीजेपी- 88425 अंतर- 5000 नोटा- 5148राजपुरकांग्रेस- 85513, बीजेपी 84581, अंतर- 932, नोटा- 3358सुवासराकांग्रेस- 93169, बीजेपी- 92189, अंतर- 350, नोटा- 2976