रकबर हत्याकांड में मुख्य गवाह ने पुलिस पर निर्दोषों को फंसाने का लगाया आरोप

न्यूज 24 ब्यूरो, केजे श्रीवत्सन, अलवर (12 सितंबर): अलवर जिले के रामगढ़ में रकबर खान की मॉब लीचिंग में मौत के बाद पुलिस की चार्जशीट में गोरक्षक नवलकिशोर शर्मा के भूमिका की जांच चल रही हैं। नवल किशोर शर्मा ने पुलिस पर जबरन निर्दोष लोगों को फंसाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि हिन्दू एकजुट नहीं हुआ तो इसके परिणाम सभी को भुगतने पड़ेंगे।

रामगढ़ में गौतस्कर रकबर की हुई हत्या के मामले में मुख्य गवाह नवल किशोर शर्मा ने गौतस्कर रकबर की हत्या के मामले में बंद तीनों आरोपीयों को की तुलना भगत सिंह, सुखदेव व राजगुरू से करते हुए कहा कि उन्को उस समय फांसी हुई थी और आज हमारे तीनो भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद व राजगुरू राजस्थान के अलवर जिले की जेल में बंद है। हम उनकी मौत का नाजारा देख रहे है। रकबर कांड के समय में पूरे समय साथ था। मुझपर दबाब बनाकर केस दर्ज किया जा रहा है, लेकिन मुझे डर नहीं है। मैं सत्य और धर्म के लिए अपनी गर्दन कटवाने को तैयार हूं। राजस्थान सरकार धर्म के काम को करने वाले लोगों को संविधान की आड में बलि का बकरा बना कर जेलों में बंद कर रही है। गौतस्कर खुले धुम रहे है।

धर्मसभा में आए सभी वक्ताओं ने रामगढ में गौतस्कर रकबर की हत्या के मामले में बंद गौरक्षकों छुड़वाने तथा गोविन्दगढ़ में गौकशी के मामले में शेष 65 आरोपियों की गिरफ्तारी का मुद्दा उठाया। कई वक्ताओं ने अलवर जिले में बढ़ते हुए लव-जिहाद के बारे में चिंता जाहिर करते हुए कहा कि लव-जिहाद मीठा जहर है, जो धीरे-धीर फैल रहा है। कभी किसी मुसलमान लड़की को हिन्दु लड़के साथ भागते नहीं देखा है।

वहीं बजरंग दल के जिला संयोजक प्रेम सिंह राजावत ने मुसलमानों से खतरा बताते हुए आरोप लगाया कि अलवर जिले में मेवात से सटे गांवों में जहां मुस्लिम बाहुलय अधिक है, वहां हिन्दुओं पर अत्याचार किए जाते है। उनकी बहन-बेटियों के साथ जबरदस्ती की जाती है। प्रशासन को शिकायत करने के बाद भी कोई सुधार नहीं होता, बल्कि छेड़छाड़ व बलात्कार की घटनाओं में वृद्वि होती है। अगर हम अभी नहीं जागे तो कभी नहीं जागेंगे।

विश्व हिन्दू परिषद के विभाग अध्यक्ष सुभाष अग्रवाल ने कहा कि रामगढ़ के रकबर मामले के बाद दो दर्जन से अधिक केस लव जिहाद के हो चुके है, लेकिन प्रशासन कोई कार्यावाही नहीं कर रहा है। हमारे लड़के धर्म के रक्षा के लिए बंधे हुए हैं। गोविन्दगढ़ में गौकशी में 221 गाय की खाल बारामद हुई है। उसके बाद भी सभी तीन आरोपीयों को बरी कर दिया। जहां पर गायों की खाल मिली, वहां पर हम समाधी बनाएंगे और हर वर्ष उस स्थान पर मेला लगाया जाएगा।

गौरतलब है कि गोविन्दगढ़ कस्बे में विश्व हिन्दू परिषद एवं बजरंग दल के सयुक्त तत्वाधान में हिन्दू धर्म सभा का आयोजन किया गया। धर्मसभा में पुरूषों के साथ-साथ महिलाएं भी आई। महिलाओं ने भी पुलिस व सरकार पर निर्दोंष लोगों को फंसाने का आरोप लगाया।