इलाहाबाद में दिनदहाड़े वकील की गोलीमार कर हत्या, योगी सरकार ने लगाया मुआवजे का मरहम

लखनऊ (10 मई): लगातार एनकाउंटर के बाद भी उत्तर प्रदेश में अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहा है। सूबे में अपराधी मस्त और पुलिस के हौसले पस्त नजर आ रहे हैं। राज्य में अपराधियों के हौसले का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि इलाहाबाद में आज दिन दहाड़े अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने एक वकील की गोली मार कर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गए। बदमाशों ने इस वारदात को उस वक्त अंजाम दिया जब प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी अपराध और कानून व्यवस्था की समीक्षा करने इलाहाबाद आए हुए हैं।दिन दहाड़े वकील की हत्या से जहां इलाके के लोग खौफ में हैं वहीं वकीलों में खासा आक्रोश है। हत्या की पूरी वारदात घटना स्थल के पास लगे सीसीटीवी में कैद हो गई है। फिलहाल पुलिस अपराधियों की तलाश में जुटी है। वहीं राज्य सरकार ने मृत वकील के परिजनों के लिए 20 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है।पूरा मामला आज सुबह तकरीबन 10.30 बजे की है। जब 45 साल के राजेश श्रीवास्तव अपनी बाइक से कोर्ट जा रहे थे। तभी मनमोहन पार्क के पास दो अपराधियों ने पीछाकर उनकी कनपटी में गोली मारी और मौके पर ही उनकी मौत हो गयी। खास यह कि जिस स्थान पर वारादात हुई वहां से थोड़ी देर पहले ही मुख्य सचिव और डीजीपी का काफिला निकला था।