केरल की कार्तियानी अम्मा ने रचा इतिहास, परीक्षा में 96 की उम्र में मिले 98 नंबर

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 31 अक्टूबर ): पढ़ने लिखने की कोई उम्र नहीं होती इस बात को केरल की कार्तियानी अम्मा ने साबित कर दिया है। केरल के अलप्पुझा जिले की रहने वाली कार्तियानी अम्मा से लाखों लोगों को सीख मिलती है। 96 वर्षीय अम्मा को केरल सरकार द्वारा चलाए जा रहे 'अक्षरलक्षम' साक्षरता मिशन की परीक्षा में 98 पर्सेंट नंबर पाए हैं। वह इस परीक्षा में हिस्सा लेने वाली सबसे बुजुर्ग महिला थीं।

इस परीक्षा में कुल 42,993 लोगों ने इस साक्षरता कार्यक्रम के तहत आयोजित कराई गई परीक्षा को पास करने में सफलता पाई है। इस कार्यक्रम के तहत छात्रों को पढ़ने, लिखने और गणित की काबिलियत के आधार पर जांचा गया। इस परीक्षा में 96 वर्षीय कार्तियानी अम्मा सभी अभ्यार्थियों पर भारी पड़ीं।

जानकारी के मुताबिक, यह परीक्षा इसी साल अगस्त में हुई थी, जिसके नतीजे बुधवार को घोषित किए गए। सूत्रों के मुताबिक, अम्मा इससे पहले भी कई परीक्षाएं दे चुकी हैं। इस परीक्षा में 80 कैदियों ने भी हिस्सा लिया था। साथ ही अनुसूचित जाति के 2420 अभ्यर्थियों और अनुसूचित जनजाति के 946 अभ्यर्थियों ने भी हिस्सा लिया था।

कार्तियानी अम्मा के बारे में कहा जाता है कि वह 100 साल की उम्र से पहले 10वीं की परीक्षा पास करना चाहती हैं। कुछ महीने पहले ही अक्षरलक्षम मिशन के तहत एक और परीक्षा में अम्मा ने पूरे नंबर हासिल किए थे।