बांग्लादेश बाॅर्डर तकरीबन बंद!

नई दिल्ली (5 सितंबर): भारत और बांग्लादेश ने सीमा पर एक पंक्ति वाली नई बाड़ लगाने का काम 95 फीसद पूरा कर लिया है। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के महानिदेशक केके शर्मा ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय सीमा और उससे 150 मीटर दूर लगी कंटीली तारों वाली बाड़ के बीच पड़ने वाले 250 से ज्यादा गांवों की सुरक्षा सुनिश्चित करना और सीमा पार से होने वाले अपराधों पर नकेल कसना है। इन गांवों में से अधिकतर पश्चिम बंगाल में हैं जबकि कुछ अन्य भारतीय राज्यों में हैं जिनकी सीमा बांग्लादेश से लगती है।

केके शर्मा ने कहा कि इस महत्वाकांक्षी योजना को असम के करीमगंज जैसे नदी तटीय इलाकों को छोड़कर बांग्लादेश से लगती पूरी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कार्यान्वित किया गया है। कुछ स्थानों पर काम अभी भी जारी है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के सुरक्षा बल सीमा पार से होने वाले अपराधों पर यथासंभव रोक लगाने का प्रयास कर रहे हैं। भारतीय पक्ष भी सीमा पर होने वाली हत्या की घटनाओं में कमी लाने का प्रयास कर रहा है।

बीएसएफ महानिदेशक ने कहा, 'भारत-बांग्लादेश और सीमा की सुरक्षा करने वाले दोनों बलों के बीच रिश्ते अब तक के सबसे अच्छे दौर में हैं। जब भी ऐसी घटनाएं होती हैं तो संबंधों में खटास पैदा होती है। हम सीमा की संप्रभुता सुनिश्चित करने और दोनों तरफ के लोगों की भलाई के लिए प्रतिबद्ध हैं।'