इस 9 साल के लड़के को याद है पिछले जन्म की पूरी कहानी...

जयपुर (27 जुलाई): राजस्थान के हनुमानगढ़ से एक हैरान करने वाली खबर सामने आई है, यहां पर एक 11 साल के लड़के ने अपनी पूर्वजन्म की यादों को बताकर सबको हैरत में डाल दिया है। इसके माता-पिता के मुताबिक यह बालक की उम्र जब महज 2 साल थी तब से ये सारी बातें बता रहा है।

खबर के अनुसार, जैसे-जैसे वह बड़ा होता गया यादें और गहरी होती गईं। एक दिन वह जिद कर अपने पिछले जन्म के माता-पिता से मिलने गया। जब वहां उसे मालूम चला कि उसकी पत्नी ने दूसरी शादी कर ली है तो वह गुमसुम हो गया।

जानिए 9 साल के लड़के पिछले जन्म की पूरी कहानी... - कैंचियां से गंगानगर की तरफ 14 किलोमीटर दूर चक 23 एमएल की ढाणी है। यहां मनप्रीत कौर और बीकर सिंह रहते हैं। 2005 में 19 सितंबर को बीकर सिंह और मनप्रीत के घर बेटे ने जन्म लिया। उसका नाम गुरप्रीत रखा गया। - 2 साल की उम्र में ही गुरप्रीत कहने लगा कि यह उसका घर नहीं है। उसके माता-पिता तो कोई और हैं। उसकी एक पत्नी भी है। मां ने इस बात की जानकारी दिल्ली में बस ऑपरेटिंग का काम कर रहे गुरप्रीत के पिता को इसकी जानकारी दी। - समय बीतता गया। गुरप्रीत अब 11 साल का हो गया है 6वीं कक्षा में पढ़ रहा है।

ये है इस बालक के पूर्व जन्म की कहानी: - गुरप्रीत ने बताया कि उसका गांव 23 एमएल की ढाणी नहीं बल्कि खुनीचक (सिंहपुरा) है। उसकी कुछ साल पहले ट्रैक्टर के नीचे दबने से मौत हो गई थी। उसका एक भाई जन्टा भी है। - गुरप्रीत की कही यह बात गांव खुनीचक में पहुंच गई। उसका पिछले जन्म के भाई ने पता करके गुरप्रीत का घर ढूंढ लिया और उसको पूरे परिवार सहित अपने गांव ले गया। - गुरप्रीत ने अपने पूर्व जन्म के माता-पिता करतार कौर और साधु सिंह गिल को पहचान लिया।

गुरप्रीत के पूर्वजन्म के पिता ने क्या कहा कि सभी चौंक गए: - साधु सिंह ने बताया कि उसके दो बेटे गुरजंट सिंह और गुरसेवक सिंह थे। - गुरसेवक छोटा था और उसकी कैंचिया के मांझू मार्केट में ट्रैक्टर वर्कशॉप की दुकान थी। - 1 सितंबर 2002 (रविवार) को गुरसेवक एक ट्रैक्टर रिपेयर करने के बाद उसकी ट्रॉली लेने जा रहा था। - रास्ते में ट्रैक्टर पलट जाने से वह उसके नीचे दब गया और उसकी मौत हो गई। - उस वक्त गुरसेवक की उम्र 22 साल की थी। - उसकी शादी भी हो चुकी थी। गुरसेवक की मौत के बाद लड़की के मायके वालों ने उसकी शादी किसी और व्यक्ति से कर दी थी।