'गांव का मरघट जागा, 8 महीनों में 80 लोगों की अकाल मौत'

नई दिल्ली (26 जुलाई): राजस्थान के दौसा जिले के मेहंदीपुर बालाजी के पाल उदयुपरा गांव के ग्रामीण मन में यह गांठ  बन गयी है कि पिछले कुछ महीनों से उनके गांव पर किसी प्रेतात्मा का साया पड गया है। ग्रामीणो का मानना है कि  गांव में करीब 80 लोगों की अकाल मौत इसी प्रेतात्मा की वज़ह से हुई हैं। लोगों में भय भी इस कदर समाया है कि दिन ढलते ही लोग घरों में दुबक जाते हैं और रात को उखड़ी नींद में सोते हैं।

कुछ लोग नींद में डर कर घरवालों को जगा देते हैं, तो अनेक लोग रात के समय अजीब -अजीब आवाजें सुनाई देने का दावा करते हैं। इसके समाधान के लिए गांव के सैंकड़ों लोग तीन दिन से मेहंदीपुर बालाजी की गायत्री ध्यान संस्थानपहुंच रहे हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि उक्त संस्थान के साधक ने गांव की श्मशान में 7-8 महीने पहले एक महिला का कथित तौर पर भूत भगाने के नाम पर तंत्र-मंत्र किया लेकिन साधना अधूरी रह गई। इसी वज़ह से गांव की मरघट जाग उठी है। दूसरी ओर कुछ लोगों का कहना है कि प्रशासन को इन 80 लोगों की मौत की जांच करवानी चाहिए ताकि लोगों में फैल रहे अंध विश्वास को खत्म किया जा सके।