इस तांत्रिक ने श्मशान में ऐसा क्या किया कि मर गए गांव के 80 लोग

दौसा (27 जुलाई): राजस्थान के एक गांव पर भूतनी का साया मंडरा रहा है। यहां बीते 8 माह में 80 लोगों की अकाल मौत हो गई। गांव के लोग मानते हैं कि ये लोग भूतनी के काल का ग्रास बने हैं। जानकार इसे मिथ मानते हैं, लेकिन सच तो यह है कि गांव के लोगों को कथित भूतनी के साये ने इस कदर डरा दिया है कि उनकी रातों की नींद उड़ गई है।

समाधान के लिए गांव के लोग तीन दिन से मेहंदीपुर बालाजी की गायत्री ध्यान संस्थान के एक गुरुजी के पास पहुंच रहे हैं। गांव के लोगों को कथित भूतनी के साये ने इस कदर डरा दिया है कि उनकी रातों की नींद उड़ गई है।

अब क्या कर रहे हैं गांव के लोग... - इस समस्या के समाधान के लिए गांव के लोग तीन दिन से मेहंदीपुर बालाजी की गायत्री ध्यान संस्थान के एक गुरुजी के पास पहुंच रहे हैं। - ग्रामीणों का आरोप है कि उक्त संस्थान के गुरुजी ने गांव की श्मशान में 8 महीने पहले एक महिला का कथित तौर पर भूत भगाने के नाम पर तंत्र-मंत्र किया। - गांव के लोगों का तो यह भी मानना है कि किसी कारण से यह साधना अधूरी रह गई थी, तो इससे गांव का श्मशान जाग गया है।

यही सोच कर कांप रहे हैं लोग कि अब किसकी बारी... - इस बारे में ग्रामीणों बताया कि गांव में पिछले 8 महिनों में 80 लोगों की अकाल मौत हो चुकी है। - मौत भी इस प्रकार से होती है कि रोगी को अस्पताल तक भी पहुंचाने तक का समय नहीं मिलता। - ग्रामीणों का मानना है कि 7-8 माह पहले उदयपुरा गांव के ही कुछ युवक गायत्री शक्ति पीठ के संचालक को एक महिला के शरीर से कथित तौर पर ऊपरी बाधा भगाने के लिए उदयपुरा गांव में लेकर आए थे। - इस दौरान गांव की श्मशान में कथित तौर पर रात के समय तंत्र विद्या की गई। - तांत्रिकों का प्रयास रहता है कि जब वे तंत्र विद्या करे तो किसी को भी इसके बारे में पता नहीं चले, लेकिन इस मामले में गांव वालों को भनक लग गई। - उस महिला पर की जा रही गुरुजी की तंत्र विद्या गांव के लोगों को पता चलते ही अधूरी रह गई। बस इसी के बाद से घटनाओं का सिलसिला शुरू हो गया। - गांव में इस तरह का माहौल बना हुआ है कि अब किसकी मौत की बारी आएगी, इसी के चलते लोगों की नींद हराम हैं।