बच गई मुंबई? नए साल से पहले पकड़ा गया भारी मात्रा में यूरेनियम

दीपक दुबे

मुंबई ( 21 दिसंबर ): देश की आर्थिक राजधानी मुम्बई हमेशा ही आतंकियों के निशाने पर रहती है, ऐसे में नए साल से पहले भारी मात्रा में यूरेनियम मिलने के बाद पुलिस की नींद उड़ गयी है। आखिर इतनी मात्रा में यूरेनियम का इस्तेमाल कहा और क्यों होना था जिसकी जांच में अब पुलिस जुट गयी है। पुलिस ने भारी मात्रा में यूरेनियम के साथ दो लोगों को भी इस मामले में गिरफ्तार कर लिया है।

मुम्बई से सटे थाणे के घोडबंदर इलाके से थाणे पुलिस ने दो लोगों को 8 किलो 861 ग्राम यूरेनियम के साथ गिरफ्तार किया है, जिसकी बाजार में कीमत तक़रीबन 24 करोड़ रूपये बताई जा रही है। थाणे पुलिस को सुचना मिली थी कुछ लोग यूरेनियम के साथ घोडबंदर रोड इलाके से जाने वाले थे पुलिस ने पहले से ही ट्रैप लगाकर रखा था और जैसे ही दो लोग यूरेनियम को कार्बन पेपर मे लपेटकर नीले कपडे में बांधकर बैग में लेकर आये इन दोनों को रंगे हाथ यूरेनियम के साथ पकड़ लिया। थाणे पुलिस ने दो लोगों इस मामले में गिरफ्तार कर लिया है, जिनसे लगातार पूछताछ की जा रही है कि आखिर इतनी भारी मात्रा में यूरेनियम इन्हें कहा से मिला और ये दोनों यूरेनियम को लेकर आखिर किसे डिलीवरी देने जाने रहे थे।

थाणे पुलिस के डीसीपी पराग मनारे ने न्यूज़24 से बातचीत में बताया की इन दोनों लोगों को घोडबंदर (होटल बाइक ) के पास से गिरफ्तार किया है जिनसे लगातार पूछताछ की जा रही है। पकड़े गए यूरेनियम को फॉरेन्शिक जांच के लिए हम भेज रहे हैं। वहीं दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रहे हैं। जिससे यह पता चल सके कि आखिर इन्हें यूरेनियम कहा से मिला और यह किसे देने वाले थे।

गौरतलब है की अक्टूबर महीने में मुम्बई से सटे पालघर इलाके में RDX, डेटोनेटर बरामद हुआ था, जिसने महाराष्ट्र ATS और लोकल पुलिस की नींद उड़ा दी थी। हालांकि इस मामले में अब तक गिरफ्तारी नहीं हुई है, लेकिन भारी मात्रा में मिले RDX ने कई सवाल जरूर खड़े कर दिए थे जिनका जवाब अभी तक नही मिल पाया। यह RDX जमीन में गाड़ कर रखे गए थे, वहीं फॉरेन्शिक रिपोर्ट में भी सामने आया की RDX अमोनियम नाइट्रेट और जिलेटिन स्टिक्स थे। अभी तक महाराष्ट्र एटीएस इस मामले की जांच कर रही है।

अब ऐसे में थाणे में मिले यूरेनियम की जांच भी महाराष्ट्र ATS करेगी आखिर कहा से आया यूरेनियम और क्या है मुम्बई  लाये गए यूरेनियम का मकसद।