''दिल्ली में प्रदूषण से रोजाना मरते हैं 8 लोग''

नई दिल्ली (7 फरवरी): अगर आप राजधानी दिल्ली या एनसीआर में रहते हैं तो यह खबर आपकी आंखे खोलने के लिए काफी है, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने यहां पर प्रदूषण हो लेकर चिंता जाहिर की। कोर्ट ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण से संबंधित बीमारियों की वजह से औसतन रोजाना 8 लोग मर रहे हैं।

कोर्ट ने इस बारे में चिंता जताते हुए केंद्र को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में उच्च सांद्रता वाले सल्फर ईंधनों-फर्नेस ऑयल और पेटकोक के इस्तेमाल पर रोक लगाने पर विचार करने का निर्देश दिया।

- दिल्ली में वायु प्रदूषण से संबंधित बीमारियों से हर साल 3000 लोग अपनी जान गंवा बैठते हैं।

- उत्तरी दिल्ली के चांदनी चौक में रहने वाले विद्यार्थियों को 66 फीसदी, पश्चिम दिल्ली के मायापुरी में रहने वाले विद्यार्थियों को 59 फीसदी और दक्षिणी दिल्ली के सरोजनी नगर में रहने वाले विद्यार्थियों को 46 फीसदी उच्च सांस संबंधी परशानियों के लक्षण हैं।

- इन स्थानों के बीच सापेक्षिक अंतर के लिए जिम्मेदार कारक भारी यातायात को पाया गया।