700 छात्राओं ने वेदिक ऋचाओ का दो घण्टे तक किया सस्वर पाठ, बनाया रिकॉर्ड

नई दिल्ली (4 अगस्त): कोयंबटूर के एक निजी स्कूल की 700 छात्राओं ने वेदिक ऋचाओं का दो घण्टे तक सस्वर पाठ करने का एक नया रिकॉर्ड बनाया। इन छात्राओं ने मेधा सूक्त का दो घण्टे तक सस्वर पाठ किया। ऐसा माना जाता है कि मेधा सूक्त का पाठ करने से याददाश्त बहुत अच्छी हो जाती है। इसलिए वेदों का यह सूक्त छात्र-छात्राओं के लिए उपयोगी माना गया है।

मेधा सूक्त का सस्वर पाठ करने वाली छात्राओं हिंदु छात्राओं के अलावा मुस्लिम और ईसाई छात्राएँ भी शामिल हुईं। एक मुस्लिम छात्रा ने कहा कि उन्हें बताया गया कि मेधा सूक्त से स्मरण शक्ति और बुद्धि बढ़ती है तो वो और उस जैसी कई मुस्लिम छात्राओँ ने मेधा सूक्त का पाठ किया। वेदों की उत्पत्ति ईसा से भी भी हजारों साल पहले की मानी गयी है। वेद सनातन धर्म के पवित्र ग्रंथों में से एक हैं।