महज 35 रुपए के लिए कर दी थी हत्या, 25 साल बाद हुआ गिरफ्तार

नई दिल्ली (29 अगस्त): एक हत्या के आरोपी व्यक्ति को पुलिस ने 25 साल बाद गिरफ्तार किया गया है। साउथ जिला पुलिस की विजिलेंस ब्रांच ने 25 साल पहले पहाड़गंज इलाके में 35 रुपये के विवाद में हुई हत्या केस में भगोड़े शख्स को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान ओंकार सिंह उर्फ लड्डू(61) के तौर पर हुई। वह पुलिस को चकमा देते हुए दिल्ली सहित दूसरे शहरों में अलग-अलग जगहों पर छिपा हुआ था। पिछले कुछ समय से वह विष्णु गार्डन में छिपकर रह रहा था।

डीसीपी(साउथ) ईश्वर सिंह ने बताया कि डिस्ट्रिक्ट की विजिलेंस ब्रांच को लंबे समय से फरार चल रहे भगोड़ों को पकड़ने की जिम्मेदारी सौंपी थी। विजिलेंस ब्रांच को सूचना मिली थी कि मर्डर केस में पिछले 26 साल से भगोड़ा घोषित किया गया शख्स इस समय विष्णु गार्डन में रहकर प्राइवेट सिक्यॉरिटी गार्ड की जॉब कर रहा है। इस सूचना के आधार पर पुलिस ने बताई गई जगह पर दबिश देकर ओंकार सिंह उर्फ लड्डू को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस अफसरों ने बताया कि परमिंदर कुमार 37 साल पहले पहाड़गंज इलाके में कपड़े बेचने का काम करते थे। उस समय रवींद्र ने उनसे 55 रुपये में जर्सी खरीदी थी, लेकिन भुगतान 20 रुपये का ही किया था। बाकी बचे 35 रुपये उसने बाद में देने की बात कही थी। इस बात को लेकर उसका परमिंदर से विवाद हो गया था। 25 नवंबर 1980 को जब वह जागरण देखने जा रहे थे तो देवेंद्र कुमार उर्फ बिल्ला, अमरपाल सिंह उर्फ लवली, रवींद्र कुमार और ओंकार सिंह ने चाकू से हमलाकर उनकी हत्या कर दी थी।