55,000 गांवों में आज भी मोबाइल फोन कवरेज नहीं

नई दिल्ली (6 अगस्त): 55,000 गांवों में आज भी मोबाइल फोन कवरेज नहीं हैं। इनमें 5,949 गांव मध्य प्रदेश में, 5,926 गांव, छत्तीसगढ़ में 4,041 गांव और आंध्र प्रदेश में 3,812 गांव शामिल हैं।

- केन्द्रीय संचार राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने शुक्रवार को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में राज्यसभा को बताया कि अनुमान है कि देश में करीब 55,000 गांवों में मोबाइल की कवरेज नहीं है। - इन दूरदराज के गांवों में मोबाइल का कवरेज चरणबद्ध तरीके से उपलब्ध कराए जाने की संभावना है जो वित्तीय संसाधनों की उपलब्धता पर निर्भर करता है। - उन्होंने कहा कि पहले चरण में सरकार की प्राथमिकता वामपंथी उग्रवाद प्रभावित, पूर्वोत्तर क्षेत्रों, द्वीपों और हिमालयी राज्यों (जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश) में मोबाइल सेवा उपलब्ध कराने की है। - जिन राज्यों में मोबाइल कवरेज से वंचित क्षेत्र अधिक हैं उनमें उड़ीसा में सर्वाधिक 10,398, उसके बाद झारखंड में 5,949 गांव, मध्य प्रदेश में 5,926 गांव, छत्तीसगढ़ में 4,041 गांव और आंध्र प्रदेश में 3,812 गांव शामिल हैं। - वहीं उन्होंने बताया कि कर्नाटक, केरल और पुड्डुचेरी में ऐसा कोई भी गांव नहीं है जो मोबाइल सेवा के दायरे में न हो।