एक गांव ऐसा भी, 5000 'मुस्लिमों' के नाम 'हिंदू' जैसे

नई दिल्ली (29 जुलाई): गुजरात का बोटाद जिला का रणपुर गांव। यहां कुल आबादी 20 हजार है। इसमें मुस्लिमों की आबादी 5 हजार। लेकिन जब आप इनसे इनके नाम पूछेंगे तो कोई अपना नाम वनराज सिंह बताएगा तो कोई रुद्रराज सिंह। आपको लगेगा कि ये हिंदू हैं। लेकिन ये पांच वक्त के पक्के नमाजी मुस्लिमों के नाम हैं। गांव के मुस्लिम सरपंच भेरूला परमार कहते है कि हमें इस कारण कई बार परेशानी झेलनी पड़ती है। क्योंकि जो भी आदमी गांव में आता है, इसके पीछे की कहानी पूछने लगता है।

घर के बाहर 'जीवुभा टी परमार' की नेम प्लेट और अंदर दरवाजे पर 'अल्लाहु-अकबर' की फ्रेम। इसके पीछे की कहानी बड़ी दिलचस्प है।

सन 1600 में राजा हमीर सुमरा ने हेबत खान की लड़की से शादी की बात कही। पर हेबत ने उनकी बात नहीं मानी। सुमरा ने हेबत का पीछा कराया। हेबत ने सुरेंद्र नगर के राजा के दो लड़कों हलोजी और लखधीर से मदद मांगी। युद्ध हुआ और इसके बाद समझौता। सुमरा ने युद्ध में क्षतिपूर्ति की मांग लखधीर और हलोजी से की। इन दोनों ने इसके लिए बादशाह बेगड़ा से मदद मांगी।

बेगड़ा ने मदद के बदले हलोजी को ही कैद कर लिया। कुछ महीनों बाद लखधीरा के निवेदन पर हलोजी को रिहा कर दिया गया। जब हलोजी अपने घर आए तो उनकी भाभी ने कहा, "तुम मुस्लिम के घर पर रहकर आए हो। इसलिए अब तुम्हारा धर्म बदल गया है।" हलोजी वापस चले गए और मुस्लिम धर्म अपना लिया। तब से हलोजी वंश मुस्लिम धर्म मान रहा है, लेकिन उनके नाम हिंदुओं जैसे ही हैं। इनकी आबादी 5 हजार के करीब है। नाम और धर्म को अलग-अगल होने के चलते इन लोगों को डॉक्युमेंट्स में काफी परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है।

परिवार की तरह रहते हैं दोनों समुदाय

- रणपुर गांव सांप्रदायिक सद्भावना की मिसाल भी कायम किए हुए है। आज तक यहां कभी भी हिंदू-मुस्लिमों के बीच कोई विवाद नहीं हुआ।

- त्योहार हो या कोई अन्य आयोजन, दोनों समुदाय के लोग मिल-जुलकर मनाते हैं।

नेम प्लेट से गच्चा खा सकते हैं आप

- इस गांव की एक अनोखी बात यह भी है कि आप घर के बाहर लगी नेम प्लेट से गच्चा भी खा सकते हैं। क्योंकि नाम तो हिंदू जैसा दिखाई देता है, लेकिन परिवार मुस्लिम है।

- इसका मतलब है कि आप 'नेम प्लेट' से यह पता ही नहीं लगा सकते कि घर में रहने वाला परिवार मुस्लिम है या हिंदू। - करीब 20 हजार की आबादी वाले इस गांव में हिंदू-मुस्लिम एक परिवार की तरह रहते हैं।

- हिंदू नाम और इस्लाम धर्म के कारण डॉक्युमेंट्स में आती है परेशानी।