सर्जरी के बाद सिर्फ 200 किलो ही कम हो पाएगा इस महिला का वजन

नई दिल्ली (14 फरवरी): मिस्र से भारत लाई गई 500 किलोग्राम की इमान अहमद का पहली सर्जरी से करीब 200 किलो वजन ही कम किया जाएगा। इसके तीन साल बाद दूसरी सर्जरी कर 100 किलो वजन और कम किया जाएगा।

36 साल इमान को दुनिया की सबसे वजनी महिला माना जाता है। शनिवार को उसे कार्गो प्लेन से मिस्र से भारत लाया गया, इसमें 80 लाख रुपए खर्च आया। बता दें कि भारत के डॉक्टर्स उसका फ्री में इलाज कर रहे हैं।

सर्जरी के बाद चलने लगेगी इमान...

- डॉक्टर मफी लकड़ावाला ने सोमवार को कहा, ''यह एक यूनीक और हाई रिस्क केस है। इसीलिए हमने इमान का पूरा इलाज फ्री करने का फैसला लिया है। सर्जरी के बाद उसे नॉर्मल लाइफ में आने में तीन से चार साल लग सकते हैं।''

- ''यह सच है कि इंडियन हेल्थकेयर सेक्टर पहली बार ऐसे चैलेंज का सामना कर रहा है। हमें उम्मीद है कि पहली सर्जरी के बाद इमान का वजन करीब 200 किलो तक कम होगा। इसके बाद वह चल सकेगी और अपने जरूरी काम खुद करने लगेगी।''

- ''इसके बाद इमान अपने घर जा सकेगी। तीन साल बाद उसकी दूसरी सर्जरी होगी, जिससे 100 किलो तक वजन कम होगा।''

- बता दें कि ज्यादा वजन के चलते इमान 25 साल से घर से बाहर नहीं निकल पाईं और ना ही कभी स्कूल गईं।

कौन हैं इमान?

- बता दें कि 36 साल की इमान अहमद अब्दुलाती मिस्र के एलेक्जेंड्रिया में रहती हैं। भारी-भरकम शरीर की वजह से 25 साल से घर से नहीं निकल सकी हैं।

- यहां तक कि अपने बिस्तर तक से भी नहीं हिल पाती हैं। जन्म के वक्त ही इमान का वजन पांच किलो था। वह कभी स्कूल नहीं गईं।