9वीं फेल ने ऐसे ठगे 500 करोड़, जानेंगे तो दंग रह जाएंगे

नई दिल्ली (6 जून): मनी ट्रेड कॉइन' नामक फर्जी करंसी में निवेश का झांसा देकर ढाई हजार लोगों से 500 करोड़ रुपये ठगी करने वाली कंपनी का पर्दाफाश ठाणे पुलिस की अपराध शाखा ने किया है। इस ठगी के लिए 'फ्लिस्टोन' कंपनी ने कुल 105 करोड़ सिक्के तैयार किए थे। शुरुआत में तीन-तीन डॉलर कीमत के सिक्के छह-छह हजार डॉलर में बिके।

 गौरतलब है कि इनमें से दो करोड़ सिक्के बाजार में चलन में आ चुके थे। बताया जा रहा है कि  कंपनी का मास्टरमाइंट आठवीं पास है, लेकिन उसने ऑकलैंड यूनिवर्सिटी से डॉक्टरेट ले रखी है।पुलिस ने कंपनी के लिए तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराने और सॉफ्टवेयर बनाने वाले तहा हाफिज काजी को गिरफ्तार किया है। काजी मुंब्रा के कौसा स्थित फलाह कॉम्पलेक्स में रहता है और उसने पनवेल के कॉलेज से कंप्यूटर इंजिनियरिंग में डिप्लोमा किया है।बहराल, पुलिस कंपनी के मुखिया अमित लखन पाल सहित 4 लोगों की तलाश कर रही है। ठाणे के घोडबंदर रोड और मुंबई के विक्रोली स्थित कंपनी के कार्यालयों पर छापेमारी कर पुलिस ने 53 लैपटॉप, बड़ी संख्या में फर्जी कागजपत्र, सरकारी, गैर सरकारी मुहरें, मोबाइल फोन, फर्जी दस्तावेज, फर्जी विजिटिंग कार्ड और फर्जी कॉइन सहित बड़ी मात्रा में सामान जब्त किया है। अब तक की जांच में ढाई हजार लोगों से 500 करोड़ की ठगी करने का मामला सामने आया है।