50 कुत्तों को पहले ज़हर दिया, फिर मिट्टी का तेल छिड़क कर जलाया

 

चेन्नई (15 जून) :  चेन्नई के पास एक गांव से मानवता को शर्मसार कर देने वाली ख़बर आई है। यहां से 50 किलोमीटर दूर कीज़ामुर गांव में 50 कुत्तों को ज़िंदा जला दिया गया। ये घटना 5 जून की है जिसका खुलासा अब हुआ है। इन कुत्तों को जलाने से पहले कीटनाशक मिला खाना खिलाया गया था जिससे कि वे बेसुध हो जाएं। पुलिस का कहना है कि कुछ गांव वालों ने इन कुत्तों को मारा क्योंकि कुत्तों ने कथित तौर पर उनकी भेड़-बकरियों पर हमला किया था।

एक ग्रामीण ने इस घटना के बारे में चार दिन बाद एक पशु कल्याण कार्यकर्ता पी अश्वथ को बताया तो इसका खुलासा हुआ। अश्वथ की शिकायत पर मेलमारुवाथुर पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया है। इस मामले में मुरली, मुथु, मुरुगादौस और जीवा के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

पुलिस का कहना है कि कुछ गांव वालों ने दावा किया कि कुछ आवारा कुत्तों ने भेड़-बकरियों पर घास चरते वक्त हमला किया था। गांव वालों के मुताबिक कुत्तों के काटने से घायल कुछ भेड़-बकरियों की मौत हो गई। हालांकि अश्वथ का कहना है कि किसी भी भेड़-बकरी पर कुत्ते के काटने जैसा कोई निशान नहीं मिला। अश्वथ के मुताबिक जब उन्होंने गांव पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष से बात की तो उन्होंने कुत्तों को मारने जैसी घटना से इनकार किया। अश्वथ का कहना है कि उनके पास कुत्तों के मारे जाने के पुख्ता सबूत हैं।     

अश्वथ का कहना है कि स्थानीय पुलिस ने पहले उनकी शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया। अश्वथ के मुताबिक पुलिसवाले गांववालों की हां में हां मिलाते दिखे। लेकिन कुत्तों को पहले ज़हर दिया गया और फिर मिट्टी का तेल छिड़क कर जला दिया गया। अश्वथ ने दावा किया कि उन्होंने कुत्तों के अधजले शवों को एकत्र किया जो बुरी तरह सड़ चुके थे। अश्वथ के मुताबिक उन्होंने कुत्तों के शवों को पूरी तरह जलाया।