जब गांववालों के हौसलों से मौत के मुंह से निकाले गए 50 बच्चे

नई दिल्ली (8 अगस्त): सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के नजदीक निकल रही कस्बें की पलकी नदी के पुलिया से 2 फीट ऊपर बहने के बावजूद भी ड्राइवर की लाफरवाही से सवेरे 7 बजें ए.वी.एस स्कूल के बच्चो की जान आफत में आ गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सवेरे 7 बजे कस्बे के बच्चो को स्कूल लेकर जा रही ए.वी.एस स्कूल की बस के चालक ने नदी पर चादर चलने के बावजूद भी पुलिया पर बस उतार दी, जो आधी पुलिया के बाद अनियंत्रित होकर पिछले हिस्सें से नदी मे चल गई। 

स्वास्थ्य केन्द्र के पास बैठे लोगो ने जब इसे देखा तो तत्परता दिखाते हुये बस की और भागे।  बस मे सवार सभी 40 बच्चों को सुरक्षित निकाले उनकी जान बचाई। घटना की सूचना पर माण्डलगढ़ प्रधान गोपाल मालवीय गोताखोरो के साथ बिजौलियां पहुंचे। प्रशासनिक अधिकारीयो ने मौका देख बच्चों को सुरक्षित निकालने वाले लोगो की प्रशंसा की। वहीं दूसरी और नदी मे फंसी बस को छाई बाई की नदी के तेज बहाव के चलते डूब जाने से नही निकाला जा सका। घटनास्थल पर कस्बावासियों की भीड़ रही।