इस प्रदेश में 500 का भी आंकड़ा पार नहीं कर पाए कांग्रेस के आधे उम्मीदवार

नई दिल्ली (4 मार्च): इस मोदी लहर कहें या कांग्रेस के बुरे दिन, क्योंकि देश की सबसे पुराने राजनीतिक पार्टी को त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में बड़ी निराशा हाथ लगी है। कांग्रेस के सभी उम्मीदवार को 50000 वोट भी नहीं मिले हैं।

कांग्रेस का कोई भी उम्मीदवार त्रिपुरा में दूसरे नंबर पर भी नहीं आ सका है। सिर्फ 4 उम्मीदवार ऐसे हैं जिन्होंने 1000 से ज्यादा वोट लिए हैं। बाकी सभी उम्मीदवारों को वोट 1000 से कम ही हैं। त्रिपुरा में 59 विधानसभा सीटों में से 30 सीटों पर उसके उम्मीदवारों को 500 से भी कम वोट पड़े हैं।

कांग्रेस ने देशभर में अबतक जितने भी विधानसभा चुनाव लड़े हैं, उनमें त्रिपुरा जैसा प्रदर्शन कभी नहीं दिया था। 2013 के चुनावों में कांग्रेस ने त्रिपुरा में 10 सीटें जीती थी, लेकिन इस बार 2 प्रतिशत भी वोट हासिल नहीं कर सकी है।