भारत, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार से लड़कर बनेगा 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था- मोदी

PM Narendra Modi- Neeti Aayog

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (15 जून): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि देश को 2024 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाना चुनौतीपूर्ण है लेकिन निश्चित रूप से राज्यों के संयुक्त प्रयास से इसे हासिल किया जा सकता है।पीएम ने गरीबी, बेरोजगारी, सूखा, बाढ़, प्रदूषण, भ्रष्टाचार और हिंसा के खिलाफ मिलकर लड़ने को कहा है।

 राष्ट्रपति भवन सांस्कृतिक केंद्र में नीति आयोग संचालन परिषद की पांचवीं बैठक को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘देश को 2024 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाना चुनौतीपूर्ण है, लेकिन इसमें राज्यों को मिलकर प्रयास करना होगा। देश के कई हिस्सों में सूखे की समस्या पर भी गवर्निंग काउंसिल में पीएम मोदी ने मिलकर काम करने को कहा है। पीएम ने कहा कि हाल ही में बनाया गया जल शक्ति मंत्रालय इसके लिए एक खाका तैयार करेगा। राज्य भी अपने स्तर पर जल संरक्षण और प्रबंधन को लेकर योजना बनाएं।उन्होंने कहा कि राज्य सरकारें निर्यात संवर्द्धन पर ध्यान दें क्योंकि लोगों की आय और रोजगार के अवसर बढ़ाने में निर्यात क्षेत्र की महत्वपूर्ण भूमिका है।मोदी ने अपनी सरकार के मंत्र 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' पर भी जोर दिया। पीएम ने हाल के लोकसभा चुनाव को दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक अभ्यास बताते हुए कहा कि अब यह सही समय है कि देश का हर नागरिक भारत के विकास के लिए काम करे।प्रधानमंत्री ने कहा कि नवगठित जल शक्ति मंत्रालय जल प्रबंधन के विषय में एक समन्वित दृष्टिकोण अपनाने में मदद करेगा। राज्यों को भी जल संरक्षण और प्रबंधन के क्षेत्र में अपने विभिन्न प्रयासों को समन्वित करना चाहिए। मोदी ने कहा कि हम कार्य-प्रदर्शन, पारदर्शिता और प्रतिपादन की विशेषता वाली शासन व्यवस्था की ओर बढ़ रहे हैं।उन्होंने यह भी कहा कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के मंत्र को पूरा करने में नीति आयोग की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव को छोड़कर सभी राज्यों के मुख्यमंत्री, केंद्र शासित प्रदेशों के उपराज्यपाल और सभी वरिष्ठ केंद्रीय मंत्री हिस्सा ले रहे हैं।

Images Courtesy:Google