एकदिवसीय क्रिकेट के 5 ऐसे रिकॉर्ड जिनका टूटना लगभग मुश्किल है

नई दिल्ली (25 नवंबर):  रिकॉर्ड बनते ही टूटने के लिए हैं। क्रिकेट में आए दिन नए रिकॉर्ड बनते हैं और आए दिन टूट भी जाते हैं। कभी-कभी तो क्षणों में ही रिकॉर्ड टूट जाते हैं। बात अगर एकदिवसीय क्रिकेट की करें तो इस फॉर्मेट में कुछ ऐसे रिकार्ड्स बने हैं जिनका टूटना काफी मुश्किल लगता है। आइए नज़र डालते हैं एकदिवसीय क्रिकेट के 4 ऐसे कीर्तिमानों पर :

1सचिन तेंदुलकर (49 शतक)

क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले इस खिलाड़ी खेल के हर बड़े रिकॉर्ड को अपने नाम दर्ज किया हुआ है। भले ही वो सबसे अधिक रन बनाने का हो या सबसे ज़्यादा शतक जड़ने का। वनडे में सचिन के कुल 49 शतक हैं जिनका आने वाले कुछ समय तक पीछा छूटना मुश्किल लगता है। ______________________________________________________________________________________________________________________

2. रोहित शर्मा (264 रन)

Image result for rohit sharma

ईडन गार्डन में रोहित शर्मा द्वारा खेली गई 264 रनों की पारी एक यादगार पारी थी। श्रीलंका के विरुद्ध खेलते हुए शर्मा ने मात्र 173 गेंदों में 264 रन बनाकर इतिहास रच दिया। इस पारी में उन्होंने 33 चौके और 9 छक्के लगाए। यह स्कोर व्यक्तिगत तौर पर वनडे का आजतक का श्रेष्ठ स्कोर है और आने वाले कई सालों में इस कीर्तिमान का टूटना मुश्किल नज़र आता है।

______________________________________________________________________________________________________________________

3. डिविलयर्स का सबसे तेज़ तरार शतक

साल 2015 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ इस दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज ने इतिहास रच दिया था। 31 गेंदों में शतक जड़ कर उन्होंने विश्व का सबसे तेज़ तर्रार शतक लगाया। इससे पहले न्यूज़ीलैंड के कोरी एंडरसन का 36 गेंदों में 100 रन बनाने का रिकॉर्ड था। डिविलियर्स ने अपनी उस पारी को 100 रन पर विराम नहीं लगाया बल्कि उन्होंने अपने बल्ले से 149 रन बटोरे। उस पारी में उन्होंने कुल 9 चौके और 16 छक्के लगाए।

______________________________________________________________________________________________________________________

4. मलिंगा के 4 गेंदों में 4 विकेट

Image result for malinga

क्रिकेट में हैट्रिक लेना ही असंभव सा लगता है परंतु जब मलिंगा गेंदबाजी कर रहे हों तो कुछ भी असंभव नहीं। विश्व कप के मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मलिंगा ने अपनी जादुई गेंदबाजी से सभी का मन मोह किया था। उन्होंने लगातार 4 गेंदों में 4 विकेट लेकर दक्षिण अफ्रीका को जड़ से हिला दिया था। उनका यह रिकॉर्ड अब टूटना असंभव सा लगता है।

_____________________________________________________________________________________________________________________

5. लक्ष्य का पीछे करते हुए 438 रन बनना

साल 2006 में खेला गया ऑस्ट्रेलिया बनाम दक्षिण अफ्रीका का वो मैच सदैव के लिए यादगार रहेगा। पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 434 रन बनाए। इस विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीका की टीम ने अपना पहला विकेट 3 रन पर ही गवा दिया था। परंतु टीम के कप्तान स्मिथ क्रीज पर टिके रहे और उनका साथ दिया गिब्स ने। मैच के अंत में आते आते बाउचर की शानदार पारी ने अफ्रीका को जीत दिला दी। दक्षिण अफ्रीका आखरी बॉल पर मैच जीती।