चुनाव आयोग का यूपी समेत 5 राज्यों को निर्देश, हमसे पूछे बगैर परीक्षा के कार्यक्रमों का न करें ऐलान

नई दिल्ली (8 दिसंबर): यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग ने इन 5राज्यों से कहा है कि उससे विचार-विमर्श किए बगैर बोर्ड परीक्षाओं के कार्यक्रमों की घोषणा न करें।

आयोग ने इन राज्यों से आज कहा,चुनाव और विभिन्न बोर्डों की ओर से तैयार किए जाने वाले परीक्षा कार्यक्रमों में कोई टकराव ना हो । आयोग ने कहा कि यह संवैधानिक अनिवार्यता है कि विधानसभा का कार्यकाल समाप्त होने से काफी पहले चुनाव करा लिए जाएं और वह चुनाव कार्यक्रमों को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में है।

गोवा, मणिपुर और पंजाब में विधानसभा का कार्यकाल 18 मार्च को समाप्त हो रहा है जबकि उत्तराखंड विधानसभा का कार्यकाल 26 मार्च को खत्म हो रहा है। उत्तर प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल 27 मई को समाप्त होगा। ऐसे उत्तर प्रदेश को छोड़कर बांकी चार राज्यों में आयोग को चुनाव मार्च तक पूरे करवाने ही होंगे। सुरक्षा की दृष्टि से केवल मणिपुर संवेदनशील है। इसलिए सुरक्षा इंतजामों के लिए आयोग के सामने अधिक सवाल नहीं होंगे। ऐसे में बाकी राज्यों के साथ ही यूपी में चुनाव होने की भी संभावनाएं देखी जा रही हैं। 

2012 में भी दिसंबर में चुनाव कार्यक्रम घोषित हुआ था, जबकि पहले चरण की अधिसूचना 12 जनवरी को जारी हुई थी। चुनाव आयोग के इन राज्यों के लिए चुनावी कार्यक्रमों की घोषणा इस महीने के अंत में या जनवरी के आरंभ में करने की संभावना है।