असंगठित क्षेत्र में 43 फीसदी कर्मचारी कार्यरत हैं: सरकार

नई दिल्ली ( 31 जुलाई ): देश के 43 फीसदी कर्मचारी असंगठित क्षेत्र में हैं और उन्हें ईपीएफ, ईएसआईसी और अन्य लाभ प्रदान करने का सरकार प्रयास कर रही है। सोमवार को लोकसभा में श्रम मंत्री बांदरू दत्तात्रेय ने यह जानकारी दी। श्रम मंत्री बांदरू दत्तात्रेय ने कहा कि देश में कुल कर्मचारियों का 43 फीसदी हिस्सा असंगठित क्षेत्र में है और 4.7 करोड़ निर्माण क्षेत्र में हैं।

उन्होंने कहा कि मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी बढ़ाने के लिए कदम उठाए गए हैं और कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) और कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) के लाभ उन्हें उपलब्ध कराने के प्रयास चल रहे हैं।

दत्तात्रेय ने कहा कि 11 जुलाई को ईएसआईसी और निदेशालय फैक्ट्री सलाह सेवा और श्रम संस्थानों के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं ताकि व्यावसायिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में सहयोग और कार्य संबंधी चोटों और रोगों की घटनाओं को कम किया जा सके। प्रश्नकाल के दौरान उन्होंने कहा, "श्रम और रोजगार मंत्रालय देश में श्रम शक्ति की सामाजिक सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है।"