नागपुर में बड़ा फर्जीवाड़ा, दूसरे नाम से अकाउंट खुलवाकर जमा करवाया 4.25 करोड़

नागपुर (8 दिसंबर): 500 और 1000 के नोटों पर पाबंदी के बाद देशभर में कालेधन के कारोबारियों में कोहराम मचा है। कालेधन के कारोबारी अपने ब्लैक मनी को व्हाइट करने के लिए फर्जी खातों का इस्तेमाल कर रहे हैं। नागपुर में कई ऐसे लोग हैं जिन्हें ये नहीं पता कि उनके अकाउंट में किसने पैसे जमा करवाए और उनके नाम से फर्जी खाते खोल रखे हैं। नागपुर में 3.29 करोड़ रुपये ऐसे लोगों के निजी और फर्जी खाते में जमा करवाए गए हैं।

8 नबंवर की नोटबंदी के बाद नागपुर में कम से कम एक महिला और उसके परिवार के नाम के एक शख्स ने 6 बैंक अकाउंट खुलवा लिया और उसमें अपना 4.25 करोड़ रुपये जमा करवा दिए। पीड़ित महिला का कहना है कि उसने कुछ साल पहले अपने एक जानकार को अपना PAN कार्ड का फोटो कांपी और कुछ निजी कागजात दिए थे, लेकिन उसने उन कागजों का गलत इस्तेमाल करते हुए कोलकाता में उसके नाम से फर्जी बैंक अकाउंट खुलवा लिया और उससे गलत लेनदेन करने लगा। फिलहाल आयकर विभाग के लोग पूरे मामले की तहकीकात में जुटे हैं।