UP: ट्रेनिंग कर रहे 4,010 दारोगाओं की भर्ती रद्द, मायावती शासन में शुरू हुई थी प्रक्रिया

नई दिल्ली (25 अगस्त): उत्तर प्रदेश में मायावती शासन में शुरू हुई दारोगा भर्ती प्रक्रिया में बड़ी अड़चन आई है। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने बुधवार को 4,010 दारोगाओं और प्लाटून कमांडरों की भर्ती रद कर दी। फिलहाल ये सभी अभ्यर्थी अभी ट्रेनिंग पर हैं।

- रिपोर्ट के मुताबिक, भर्ती में अयोग्य ठहराए गए कैंडिडेट्स ने धांधली का आरोप लगाया था।  - जस्टिस राजन राय ने भर्ती की लिखित परीक्षा और उसके बाद की सारी प्रक्रिया दोबारा करने के बाद ही रिजल्ट घोषित करने को कहा है। - मायावती शासन के दौरान 2011 में भर्ती प्रकिया शुरू की गई थी। एसपी सरकार ने जून 2015 में सूची जारी की थी। - याचिकाकर्ताओं के वकील रजत राजन सिंह ने बताया कि कोर्ट ने अभिषेक सिंह आदि की याचिका पर सुनवाई पूरी कर बीती 26 मई को अपना फैसला सुरक्षित कर लिया था। - इस पर बुधवार को फैसला सुनाया गया।  - उन्होंने बताया कि कोर्ट के फैसले से अभी ट्रेनिंग कर रहे 4,010 दरोगाओं व प्लाटून कमांडरों को कोर्ट की मनाही के बावजूद ट्रेनिंग पर भेज दिया था। - 2014 मे लिखित परीक्षा की प्रक्रिया पूरी कर ली गई।  - इसके बाद 26 जून 2015 को सरकार ने चयनित अभ्यर्थियों की सूची जारी कर दी।  - कई अयोग्य ठहराए गए कैंडिडेट्स ने कोर्ट में अलग-अलग याचिकाएं दायर कर चयन को चुनौती दी थी।