4,000 रुपये महीना जमा कर मिलेगी 50 हजार रुपये की पेंशन, ये होगा तरीका

Image source google

न्यूज 24 ब्यूरो नई दिल्ली, (14 मार्च) : जब नौकरी करने वाले लोग रिटायरमेंट होते ही सबको चिंता होती है कि आगे की जिंदगी कैसे  चलेगी। अपने भविष्य को उज्जवल बनाने के ज्यादातर सभी पेंशन स्कीम में निवेश करते हैं। यहां आपको ऐसी ही पेंशन स्कीम के बारे में बता रहे हैं, जिसमें अपने भविष्य को सुरक्षित करने के साथ ज्यादा पेंशन भी पा सकते हैं। सरकार की स्कीम नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) में 4000 रुपये महीना निवेश कर 50 हजार रुपये मासिक पेंशन तक ले सकते हैं।


फाइनेंशियल प्लानर और टैक्स एक्सपर्ट एमकेजी कंसल्टेंसी के हेड एम के गांधी ने बताया कि एनपीएस में कम उम्र में जुड़ने पर ज्यादा फायदा मिलता है। अगर आप कम उम्र से ही नौकरी कर रहे हैं तो भविष्य को सुरक्षित करने के लिए एनपीएस में निवेश अच्छा विकल्प है। एनपीएस में हर महीने 4,000 रुपये जमा करने पर रिटायरमेंट के बाद 48,628 रुपये की मासिक पेंशन मिल सकती है। वहीं, सालाना 50 हजार जमा करने पर रिटायरमेंट पर 51 हजार रुपये की मासिक पेंशन मिलेगी।

50 हजार रुपये मंथली पेंशन लेने का क्या होगा तरीका  

- अगर आप एनपीएस योजना में 25 की उम्र से जुड़ते हैं तो 60 की उम्र तक यानी 35 साल तक आपको हर महीने 4000 रुपये स्कीम के तहत जमा करना होगा।
- आप 35 सालों में करीब 16.80 लाख रुपये निवेश करेंगे। नेशनल पेंशन सिस्टम  में कुल निवेश पर अगर अनुमानित रिटर्न 8 फीसदी मान लें तो तो कुल कॉर्पस 91.17 लाख रुपये हो जाएगा। इसमें से 80 फीसदी रकम से एन्युटी खरीदते हैं तो वह वैल्यू करीब 73 लाख रुपये होगी।
- अगर रिटर्न 8 फीसदी होगा तो 60 की उम्र के बाद हर महीने करीब 49 हजार रुपये के करीब पेंशन मिलेगी। क्लीयर टैक्स की टैक्स एक्सपर्ट प्रीति खुराना ने लाइव हिन्दुस्तान को बताया कि एनपीएस में करीब 8 से 12 फीसदी तक का रिटर्न मिल जाता है।

कौन ले सकता है एनपीएस  
एनपीएस में 18 से 60 साल की उम्र के बीच का कोई भी वेतनभोगी जुड़ सकता है।

ये हैं एनपीएस के फंड मैनेज
एनपीएस में जमा किए गए पैसे को निवेश करने का जिम्मेदारी पेंशन निधि विनियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) के रजिस्टर्ड पेंशन फंड मैनेजर्स को दी गई है। अभी 8 फंड मैनेजर इस योजना से जुड़े हैं जो पैसे को इक्विटी, गवर्नमेंट सिक्युरिटीज और नॉन गवर्नमेंट सिक्युरिटीज जैसी योजनाएं में निवेश करते हैं। एनपीएस लेने वाले इनमें से चुनाव कर सकते हैं

कैसे खुलेगा अकाउंट 
सरकार ने एनपीएस योजना के लिए सरकारी और निजी बैंकों को प्वॉइंट ऑफ प्रेजेंस बनाया है। आप किसी भी नजदीकी बैंक ब्रांच में जाकर अकाउंट खुलवा सकते हैं। इसके लिए आपको बर्थ सर्टिफिकेट, 10वीं की डिग्री, एड्रेस प्रूफ और आई कार्ड की जरूरत होती है। एनपीएस के लिए रजिस्ट्रेशन फॉर्म बैंक से मिल जाएगा।

2 तरह के हैं अकाउंट
स्कीम के तहत 2 तरह के टियर1 और टियर2 अकाउंट होते हैं। टियर 1 अकाउंट खुलवाना जरूरी है, जबकि टियर 2 अकाउंट कोई भी टियर 1 अकाउंट खुलवाने वाला शुरू कर सकता है। टियर 1 अकाउंट से 60 साल की उम्र के पहले पूरा फंड नहीं निकाला जा सकता है। जबकि टियर 2 अकाउंट में अपनी मर्जी से निवेश कर सकते हैं या फंड निकाल सकते हैं।