भारी स्कूल बैग ने ले ली इस बच्ची की जान

नई दिल्ली (5 अप्रैल): बीते सालों में आपने स्कूली बच्चों की पीठ पर स्कूल बैग के बढ़ते बोझ पर गौर किया होगा। इसको लेकर तमाम लोग शिकायत भी करते रहते हैं। लेकिन बच्चों पर इसके चलते कितना दबाव बढ़ता जा रहा है, इसका कोई समाधान नहीं दिखता। इसी बीच मुंबई में एक ऐसी घटना हुई है, जो किसी का भी दिल दहला सकती है। 

मुंबई के अलकापुरी में गोल्डन पैलेस बिल्डिंग में रहने वाली एक नर्सरी स्टूडेंट शुक्रवार शाम अपने घर वापस लौट रही थी। इस बच्ची का नाम सारिका सिंह था। वह जीडी आइडियल हाईस्कूल में पढ़ने जाती थी। शुक्रवार को स्कूल से वापस आने के बाद नाला सोपारा में अपनी बिल्डिंग में सीढ़ियों से चढ़कर वह फोर्थ फ्लोर पर जा रही थी। इसी दौरान वह चौथे फ्लोर के पैसेजवे से नीचे देखने लगी। तभी भारी स्कूल बैग के कारण उसका बैलेंस बिगड़ा और वह नीचे गिर पड़ी। 

सीढ़ी से गिरने के बाद घायल सारिका को स्थानीय निवासी अलायंस हॉस्पिटल ले गए। इसके बाद सारिका को कोकिलाबेन अम्बानी अस्पताल ले जाया गया। जहां शनिवार को उसने दम तोड़ दिया।  

पड़ोसियों का कहना है, कि बच्ची आस पड़ोस में हर किसी की प्यारी थी। वह दूसरे बच्चों के साथ आसानी से घुल मिल जाती थी। शाम को उनके साथ खेला भी करती है। तुलिंज पुलिस स्टेशन के असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सुदर्शन पोटदार ने बताया, सारिका दारा सिंह राजौरिया की सबसे छोटी बेटी थी। दारा मुंबई की एक फर्म में स्वीपर हैं। उसके तीन अन्य भाई बहन हैं। जिनमें दो बड़ी बहनें और एक बड़ा भाई। घटना के वक्त बच्ची के पिता अपने काम पर थे।

पुलिस ने दुर्घटना में हुई मौत का मामला दर्ज कर लिया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट अभी आनी है।