Blog single photo

4 छात्रों ने नौकरी न लगने से परेशान होकर किया सुसाइड, 3 की मौत

अलवर जिले के अरावली विहार थाना क्षेत्र के अंतर्गत रेलवे ट्रैक पर ट्रेन के एक जानलेबा गेम सामने आया है। इस गेम में छलांग लगाकर तीन छात्रों की मौत और 1 छात्र गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। इस पूरे मामले में पुलिस ने मृतक छात्रों के दोस्त राहुल मीणा ओर संतोष मीणा से पूछताछ की गई तो पूछताछ में नया मोड़ सामने आ गया है। बता दें कि पुलिस ने पूछताछ के लिए मृतक छात्रों के दो दोस्तों को हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ में सामने आया है कि चारों दोस्त जिंदगी से ऊब गए थे और नौकरी नहीं लग रही थी। इसलिए परेशान होकर चार दोस्तो ने ट्रेन के आगे छलांग लगा ली जबकि राहुल और संतोष डर के कारण पीछे हट गए थे।

                                                                                                  Image Source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 नवंबर): अलवर जिले के अरावली विहार थाना क्षेत्र के अंतर्गत रेलवे ट्रैक पर ट्रेन के एक जानलेबा गेम सामने आया है। इस गेम में छलांग लगाकर तीन छात्रों की मौत और 1 छात्र गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। इस पूरे मामले में पुलिस ने मृतक छात्रों के दोस्त राहुल मीणा ओर संतोष मीणा से पूछताछ की गई तो पूछताछ में नया मोड़ सामने आ गया है।  बता दें कि पुलिस ने पूछताछ के लिए मृतक छात्रों के दो दोस्तों को हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ में सामने आया है कि चारों दोस्त जिंदगी से ऊब गए थे और नौकरी नहीं लग रही थी। इसलिए परेशान होकर चार दोस्तो ने ट्रेन के आगे छलांग लगा ली जबकि राहुल और संतोष डर के कारण पीछे हट गए थे।ट्रेन के आगे छलांग लगाने की वजह से मनोज, सत्यनारायण और ऋतुराज मीणा की ट्रेन से कटने से मौत हो गई जबकि अभिषेक गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसका जयपुर में इलाज चल रहा है। इस घटना के प्रत्यक्षदर्शी और मृतक छात्रों के दोस्त राहुल मीणा का कहना है कि शाम को करीब 6:30 बजे उसके पास सत्यनारायण उर्फ ड्यूटी का फोन आया था और उसने शांतिकुंज आने के लिए बोला था मैं अपने कमरे से पैदल-पैदल शांतिकुंज रेलवे ट्रैक के पास पहुंचा था वहां पर मनोज सत्यनारायण ऋतु राज ऋषि अभिषेक और संतोष सिगरेट पीते हुए मिले थे और इसके बाद सतनारायण ने कहा कि हम जीवन से ऊब चुके हैं और नौकरी नहीं लगी है इस वजह से हताश हो गए हैं ।ना तो हम घर जाकर खेती कर सकते हैं और ना ही हमारी नौकरी लग रही है अब जीवन में क्या कर पाएंगे हम तो मरना चाहते हैं उसके बाद मैंने उनको समझाने की भी कोशिश की कि यह मजाक करने का टाइम नहीं है तो दोस्तों ने कहा कि जिस पटरी पर बैठे हैं इस पर ट्रेन आने वाली है और इसके बाद सभी दोस्त रेलवे ट्रैक पर जाकर बैठ गए वहां सिगरेट पीते रहे और बातों में काफी टाइम गुजर गया था इसके बाद मैंने उनसे कहा कि मैंने सुबह से कुछ नहीं खाया है और भूख लगी है। इसलिए घर जाकर खाना खाऊंगा इस पर अभिषेक बोला मेरे पास एटीएम कार्ड है चिंता मत कर उसे बोतल में खाना खाएंगे इसी बीच ट्रेन की और उनकी आवाज आई सत्यनारायण में अपने परिजनों से बात की और मनोज ऋतुराज अभिषेक भी दूर खड़े होकर मोबाइल पर बात करने लग गए थे इसके बाद चारों ने भागकर ट्रेन के आगे सुसाइड कर लिया और उनके इस घटना के बाद डर गए थे और घर पहुंच कमरे पर पहुंच कर मृतक के भाई को इसकीं सूचना दी थी। इसके बाद मृतक के भाई और कुछ अन्य लोग वहां पर पहुंचे और घटनास्थल पर पुलिस को सूचना दी तो मृतकों के शव छत विक्षत अवस्था मे हुए थे।

Tags :

NEXT STORY
Top