हॉस्टल में कथित तौर पर बीफ पकाने के आरोप में 4 कश्मीरी छात्र गिरफ्तार

नई दिल्ली (16 मार्च): राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में चार कश्मीरी छात्रों को सार्वजनिक शांति भंग करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। इन्हें एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में बीफ पकाने की अफवाह फैलने के बाद ऐसा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। पुलिस के मुताबिक इन छात्रों के साथ अन्य छात्रों और कुछ स्थानीय लोगों ने हाथापाई भी की। 

प्रारंभिक जांच में मीट के बीफ होने की पहचान नहीं हुई है। घटना सोमवार रात को उस वक्त हुई, जब यह अफवाह फैली कि कश्मीरी छात्र हॉस्टल के कमरे में बीफ पका रहे हैं। इसके तुरंत बाद ही कुछ छात्र और स्थानीय मेवाड़ यूनिवर्सिटी के सामने इकट्ठे हो गए। साथ ही उन्होंने छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। 

मौके पर पहुंची पुलिस ने चारों छात्रों को भारतीय दंड संहिता की धारा 151 (सार्वजनिक शांति भंग करना) के तहत मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया।गंगरार पुलिस स्टेशन के एसएचओ लाभूराम ने बताया, "उनसे हॉस्टल में मीट लाने और पकाने में भूमिका के बारे में सवाल किए गए।" गिरफ्तार छात्रों में शाकिब अशरफ, हिलाल फारुख, मोहम्मद मकबूल और शौकत अली शामिल हैं। इन सभी की उम्र 21 से 27 साल हैं। 

उन्होंने बताया, "हमने मीट के सैंपल इकट्ठे किए हैं। प्रारंभिक जांच में यह बीफ नहीं मालूम होता है। हालांकि, सैंपल्स को फॉरेंसिक साइंस लैबोरेट्री में जांच के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।" स्वायत्त यूनिवर्सिटी के पब्लिक रिलेशन्स ऑफिसर (पीआरओ) हरीश गुरनामी ने बताया, कि कैंपस में मीट की अनुमति नहीं है। उन्होंने बताया, "मीट पकाना हमारी नीतियों के खिलाफ है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मामले में शामिल छात्र अंडरग्रैजुएट्स थे।"