U-15 बैडमिंटनः जकार्ता में गायत्री गोपीचंद समेत 4 महिला खिलाड़ियों ने जीता खिताब

नई दिल्ली ( 17 अप्रैल ): रविवार का दिन भारतीय बैडमिंटन के लिए सुपर संडे साबित हुआ। जहां सिंगापुर ओपन सुपर सीरीज के फाइनल में दो भारतीयों का मुकाबला हुआ, वहीं दूसरी ओर जकार्ता में आयोजित 2017 इंटरनेशनल जूनियर ग्रां प्री में तीन युवा भारतीय शटलर्स ने देशवासियों को गर्व करने के क्षण दिए।


रियो ओलिंपिक सिल्वर मेडलिस्ट पीवी सिंधु के कोच पुलेला गोपीचंद की बेटी गायत्री गोपीचंद उन चैंपियंस में से एक थीं, जिन्होंने अंडर 15 महिला खिताब जीता। उन्होंने अपने हमवतन सामिया इमाद फारूखी को हराकर यह खिताब जीता। वहीं, भारत की ही कविप्रिया सेल्वम ने कांस्य पदक जीता। गायत्री और समिया ने अंडर-15 महिला डबल्स का खिताब भी जीता। वहीं, डबल्स का ब्रॉन्ज कविप्रिया और मेघना रेड्डी को मिला।


ये चारों लड़कियां हैदराबाद स्थित पुलेला गोपीचंद नेशनल बैडमिंटन अकादमी से निकली हैं। पहली बार संस्था की ओर से अंडर-15 लेवल के बैडमिंटन प्लेयर्स को इंटरैनशल जूनियर ग्रां प्री में शामिल होने विदेश भेजा गया था।


गायत्री ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 56 मिनट लंबे मुकाबले में समिया को 21-11, 18-21, 21-16 से शिकस्त देकर U-15 वर्ग में सिंगल्स खिताब जीता। बाद में दोनों लड़कियों ने मिलकर इंडोनेशिया की जोड़ी केली लरिसा और एस व्योला को सीधे सेटों में 21-17, 21-15 से हराया। यह मुकाबला महज 28 मिनट चला, जिसके बाद दोनों ने डबल्स खिताब पर कब्जा जमाया।