भारतीयों के जिंदा होने की जानकारी नहीं: इराकी विदेश मंत्री

नई दिल्ली (24 जुलाई): भारत दौरे पर इराक के विदेश मंत्री ने मोसुल में लापता हुए 39 भारतीयों के बारे में किसी भी तरह की जानकारी होने से साफ इंकार कर दिया। इराकी विदेश मंत्री इब्राहिम अल-जाफरी ने कहा कि हम 100 फीसदी यकीन के साथ नहीं कह सकते हैं कि लापता भारतीय जिंदा हैं या नहीं। हम उन्हें खोजने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

जाफरी ने कहा, 'हमारे पास इस बात के कोई पुख्ता सबूत नहीं हैं कि वे मारे गए हैं या फिर जिंदा हैं। इस बारे में अभी हम कोई जानकारी नहीं दे सकते हैं।' हालांकि कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कुछ दिन पहले बताया था कि संभवत: लापता भारतीय इराक की एक जेल में बंद हैं। सुषमा ने रविवार को विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह और एमजे अकबर के साथ सभी लापता 39 भारतीयों के परिवारों से मुलाकात की थी।

बता दें कि ये सभी लोग 2014 से ही इराक में लापता हैं। सुषमा ने कहा था कि इन सभी लापता लोगों को सुरक्षित वापस लाने के लिए सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। लापता भारतीयों में से अधिकतर पंजाब के हैं। 2014 में ही इराकी फौज को हराने के बाद ISIS ने मोसुल पर कब्जा कर लिया था। मोसुल में मिली जीत के बाद इस आतंकी संगठन का काफी विस्तार हुआ।