आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं: 'मन की बात' में बोले पीएम मोदी

नई दिल्ली(27 अगस्त): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 35वीं बार 'मन की बात' कार्यक्रम के माध्यम से देश को संबोधित किया। पीएम हर महीने के आखिरी रविवार को 11 बजे इस कार्यक्रम के माध्यम से देश को संबोधित करते हैं। कार्यक्रम की शुरुआत में ही पीएम मोदी ने हरियाणा में हुई हिंसा पर चिंता जताई। पीएम मोदी ने कहा कि आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जा सकती। हिंसा ना ही देश बर्दाश्त करेगा और ना ही सरकार। आस्था के नाम पर कानून हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है। ये देश गांधी और बुद्ध का है। हिंसा किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

- पीएम मोदी ने कहा कि मैंने लाल किले से भी कहा था कि आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं होगी। हर किसी को कानून के सामने झुकना होगा, कानून जवाबदेही तय करेगा और दोषियों को सजा दे के रहेगा।

- त्योहारों का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि शायद ही 365 दिन में कोई दिन बचता होगा जो कि हमारे यहां त्योहार से न जुड़ा हुआ हो। इन दिनों गणेश चतुर्थी की धूम मची हुई है। सभी देशवासियों को गणेशोत्सव की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।अभी केरल में ओणम का त्योहार मनाया जा रहा है। भारत के रंग-बिरंगे त्योहारों में से एक ओणम केरल का एक प्रमुख त्योहार है। इसके साथ ही उन्होंने देशवासियों को ईद-उल-जुहा की भी बधाई दी।

- स्वच्छता का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि 2 लाख 30 हजार से भी ज्यादा गांव, खुले में शौच से अपने आपको मुक्त घोषित कर चुके हैं. शौचालयों की कवरेज 39% से करीब-करीब 67% पहंची है। मैं आह्वान करता हूं कि 2 अक्टूबर को गांधी जयंती से 15-20 दिन पहले से ही 'स्वच्छता ही सेवा' मुहिम चलाएं। ऐसा स्वच्छता खड़ी कर दें कि 2 अक्टूबर सचमुच में गांधी के सपनों वाली 2 अक्टूबर हो जाए।

- पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में कहा कि जब हमारे घर के आस-पास कोई सामान बेचने के लिए आता है तो हम उससे मोल भाव करते हैं पर बड़े-बड़े रेस्त्रां में बिल धड़ाम से दे देते हैं। हम गरीब से मोल-भाव करते हैं, जो कि उसे पीड़ा पहुंचाती होगी। प्रधानमंत्री मोदी को पुणे की अपर्णा ने मैसेज भेजकर ये बात उठाने को कहा।

- खेल पर पीएम ने कहा कि खेल मंत्रालय ने खेल प्रतिभा की खोज के लिए स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च पोर्टल तैयार किया है। इस पर कोई भी बच्चा जिसने खेल के क्षेत्र में कुछ उपलब्धि हासिल की है, वो पोर्टल पर अपना बायोडाटा या वीडियो अपलोड कर सकता है। सलेक्ट इमर्जिंग प्लेयर्स को खेल मंत्रालय ट्रेनिंग देगा और मंत्रालय कल इस पोर्टल को लॉन्च करने वाला है। खुशी की खबर है कि भारत में 6 से 28 अक्टूबर तक फीका अंडर-17 वर्ल्ड कप का आयोजन होने जा रहा है।