पश्चिमी मौसुल में फंसे हैं 3 लाख 50 हजार बच्चे !

नई दिल्ली (20 फरवरी): इराक में कार्यरत एक गैर सरकारी संगठन ने  दावा किया कि पश्चिमी मोसुल में तकरीबन साढ़े तीन लाख बच्चे फंसे हैं जबकि इराकी सेना ने सामरिक महत्व के इस शहर पर कब्जा जमाए उग्रवादियों के खिलाफ ताजा हमले शुरू किए।

बाल अधिकार के लिए काम कर रहे लंदन आधारित गैर सरकारी संगठन सेव द चिल्ड्रेन के कंट्री डाइरेक्टर मॉरिजियो क्रीवालेरो ने कहा, इराकी बल और अमेरिका तथा ब्रिटेन समेत उनके सहयोगियों को बच्चों तथा उनके परिवारों को नुकसान से बचाने तथा स्कूलों एवं अस्पतालों जैसे असैन्य इमारतों पर हमले से परहेज करने के लिए भरसक कोशिश करनी चाहिए। क्रीवालेरो ने आगाह किया कि ज्यादातर लोगों के लिए भागना कोई विकल्प नहीं है। उन्हें आईएस समूह के लड़ाकों के प्रतिशोध, स्नाइपर गोलीबारी और बारूदी सुरंग का खतरा है।