देश के नामी शिक्षण संस्थानों में कई पद खाली, अकेले IIT में 35% से ज्यादा स्थान हैं रिक्त

नई दिल्ली(20 अगस्त): भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एनआईटी) और यूनिवर्सिटी सहित ज्यादातर केंद्र-वित्त पोषित संस्थान एक तिहाई संकाय पदों के साथ कक्षाएं चला रहे हैं, जिससे सरकार को एक प्रमुख भर्ती अभियान शुरू करने की प्रेरणा मिल रही है।

- नई केंद्रीय विश्वविद्यालयों में 53.28% रिक्त पद हैं, वहीं एनआईटी में 47% पद रिक्त हैं। पुराने और नए आईआईटी को मिलकार कुल 35% से अधिक पद खाली हैं। 

- पत्रकारों से बातचीत में एचआरडी मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि मंत्रालय रीच-रोज़गार और उद्योग के विशेषज्ञों की पढ़ाई के बारे में सोच रहा है ताकि उन्हें रिक्त पदों को भरना पड़े। संकाय पदों में रिक्त पदों की संख्या से संबंधित, जावड़ेकर ने कहा कि संस्थानों को साल के अंत तक कम से कम 75% अप्रतिबंधित पदों को भरना होगा।

- पुराने आईआईटी में 39% पद खाली हैं। वहीं नए आईआईटी में 36% रिक्त हैं। एनआईटी की बात करें तो इसमें 47% पद रिक्त हैं। 20 पुराने एनआईटी में से 14 में 40% जगह खाली है। इतना ही नहीं आईआईएम में 26.01% पर रिक्त हैं।