इस साल 31 और हवाई अड्डों पर उतरेगी-उड़ेगी जहाज

नई दिल्ली ( 31 मार्च ): भारत सरकार ने क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना 'उड़ान' शुरू की है। इस योजना को शुरू करने के पीछे सरकार का उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा लोगों को विमान से यात्रा करने के लिए प्रेरित करना है। इस योजना के तहत सरकार ने किराया निर्धारित किया है।


शांत पहाड़ियों कुल्लू और शिमला को जल्द ही छोटी उड़ानें शुरू की जाएंगी। जैसलमेर के लिए इस साल ठंड के मौसम तक शुरू की जाएगी। विमानन कंपनियां इन मार्गों पर 19 से 78 सीटों वाले विमानों का इस्तेमाल करेंगी. उड़ान के जरिये जिन हवाई अड्डों को जोड़ा जाएगा उनमें बठिंडा, पुडुचेरी तथा शिमला भी शामिल हैं। इस योजना के तहत सरकार 31 और हवाई अड्डों से उड़ान सेवा शुरू करेगी।


सरकार ने बताया कि 5 एयरलाइन कंपनियों की ओर से दायर 27 प्रस्तावों का चयन किया गया है। ये कंपनियां देशभर के 128 रूटों को जोड़ेंगी। इस योजना के तहत सरकार और 31 हवाई अड्डों से उड़ाने सेवा शुरू करेगी।


खबरों के मुताबिक 'नागरिक उड्डयन के सौ साल में शेड्युल्ड कमर्शल फ्लाइट्स से सिर्फ 76 एयरपोर्ट्स ही जुड़ पाए। लेकिन, नई एविएशन पॉलिसी की घोषणा के एक साल के अंदर 31 और एयपोर्टों को कनेक्ट कर लिया जाएगा।'


उड़ान योजना के तहत सरकार हर व्यक्ति को 2,500 रुपये में एक घंटे की हवाई यात्रा का टिकट देने की घोषणा कर चुकी है।