भारत की इस बेटी ने 31 घंटे ड्रम बजाकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

नई दिल्ली (24 अगस्त): एक और जहां रियो ओलम्पिक में लड़कियों ने जीत का डंका बजाया है। वहीं इंदौर में भी एक बेटी ने लगातार 31 घंटे से अधिक ड्रम बजाकर ना केवल 24 घंटे तक ड्रम बजाने वाली मॉस्को की सोफिया का विश्व रिकॉर्ड तोड़ा बल्कि खुद 31 घंटों का एक नया रिकॉर्ड खड़ा कर दिया। श्रष्टि को गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की ओर से बाक़ायदा सर्टिफिकेट भी दिया गया।

इंदौर के करीब नीमच के एक छोटे से कस्बे पलड़ा की रहने वाली 24 साल की श्रष्टी पाटीदार के पिता विनोद पाटीदार यूँ तो एक साधारण किसान हैं लेकिन उनके बेटे नितिन ने जब बारहवीं कक्षा के बाद पढाई में रूचि नहीं दिखाई तो विनोद ने बेटी श्रष्टि की ही इच्छा पूरी करते हुए उसे इंजिनियर बना दिया। लेकिन श्रष्टि ने इंदौर में इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के साथ साथ अपने बचपन का शौक़ ड्रम बजाना भी जारी रखा और आज एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाया।

श्रष्टि के ट्रेनर बबलू शर्मा ने बताया कि उन्होंने और खुद श्रस्टी ने इसके लिए काफी समय तक मेहनत की है और आज श्रष्टि की मेहनत रंग लाई। सोमवार 22 अगस्त को दोपहर 12 बजकर 30 मिनिट पर श्रष्टि ने ड्रम बजाना शुरू किया था और आज मंगलवार को रात 8 बजे तक वह ड्रम बजाती रही।

इस काम के लिए पहले श्रष्टि के पिता विनोद पाटीदार ने पहले उसे मना किया था लेकिन उसकी लग्न के आगे वे भी ज़्यादा दिनों तक श्रष्टि को रोक नहीं पाए और आज माता पिता को अपनी बेटी पर गर्व है।   गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के नेशनल हेड मनीष विश्नोई ने बताया पूरे प्रोग्राम की लगातार मॉनिटरिंग की गई है साथ ही वीडियो रिकॉर्डिंग भी लगातार जारी है। नियम अनुसार मॉस्को की सोफिया ने 24 घंटों में 3 ब्रेक लिए थे जबकि श्रष्टि ने 31 घंटों में 3 ब्रेक लेकर एक नया रिकॉर्ड बनाया है। विश्व रिकॉर्ड बनाने वाली श्रष्टि ने अपने परिवार और ट्रेनर का शुक्रिया अदा करते हुए आगे भी इसी फील्ड में काम करने की इच्छा जताई।