गोरखपुर बाल संहार: मंत्री से लेकर इन अधिकारियों को थी ऑक्सीजन कमी की जानकारी


वीरेंश पांडेय, गोरखपुर (13 अगस्त): गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में 36 बच्चों की मौत को लेकर मच रहे बवाल के बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सवालों के घेरे में है। बार-बार ये बात सामने आ रही है कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत हुई, लेकिन इसमें कई स्तर पर लापरवाही हुई।

अब आपको बताते हैं कि किन-किन लोगों की इस बात की जानकारी थी कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी हो सकती है। इस लिस्ट में यूपी सरकार के मंत्री से लेकर गोरखपुर के जिलाधिकारी तक शामिल हैं। अस्पताल में ऑक्सीजन गैस सप्लाई करने वाली पुष्पा गैस प्राइवेट लिमिटेड की चिट्ठी में साफ है कि कंपनी ने अस्पताल की लापरवाही की जानकारी सूबे के चिकित्सा सेवा मंत्री आशुतोष टंडन के अलावा गोरखपुर के जिलाधिकारी और सरकार के आला अफसरों को दी गई थी। इनमें प्रमुख सचिव मेडिकल एजुकेशन, महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ सेवाएं, बीआरडी अस्पताल के बाल रोग विभाग के विभागाध्यक्ष के साथ बीआरडी के प्रिंसिपल को भी इस मामले से कंपनी ने अवगत कराया था। लेकिन इसके बाद भी योगी सरकार के साथ सरकार के मंत्री भी सोते रहे। काश ये वक्त पर जाग जाते तो इतने सारे बच्चों की जान नहीं जाती।