सिमी के 3 आतंकी गिरफ्तार, सिंहस्थ में तबाही की थी योजना

भुवनेश्वर(18 फरवरी): प्रतिबंधित संगठन सिमी के तीन संदिग्धों समेत कुल 5 लोगों को ओडिशा के राउरकेला से गिरफ्तार किया गया है। ओडिशा व तेलंगाना पुलिस ने तीन घंटे तक चले संयुक्त ऑपरेशन में यह कामयाबी हासिल की। 

इनका मकसद मप्र के उज्जैन में होने वाले सिंहस्थ में तबाही मचाना था। महबूब, अमजद, जाकिर समेत 6 लोग 2013 में खंडवा जेल से फरार हो गए थे। एक को पहले ही पकड़ लिया गया था जबकि दो मारे गए थे। इन पर 10 लाख रुपए का इनाम था। जबकि मोहम्मद सालेक बाद में इनसे जुड़ा, जो कि एक शातिर अपराधी है।

राउरकेला के एक घर से एसपीजी ने शेख महबूब उर्फ गुड्डू (26), अमजद खान उर्फ दाऊद (26), जाकिर हुसैन उर्फ सादिक (23) को गिरफ्तार किया। तीनों संदिग्धों पर एनआईए ने 10 लाख रुपए का इनाम घोषित कर रखा था। इसके अलावा शेख महबूब की मां नजमा (60) व एक अन्य सहयोगी मोहम्मद सालेक को भी पकड़ा गया है। बुजुर्ग महिला 2014 से ही आतंकी संगठन से जुड़ी हुई बताई जा रही है।

एनएसजी द्वारा की गई पूछताछ में इन सभी ने बड़ी साजिश का खुलासा किया। ऑपरेशन में शामिल एसपीजी के अधिकारी ने बताया, आतंकी उज्जैन में होने जा रहे सिंहस्थ में बड़ी तबाही की तैयारी में थे। इनके कब्जे से उज्जैन के कई स्थानों के फोटो बरामद किए गए हैं।

आतंकी सिंहस्थ में बड़े हमले को अंजाम देने के लिए छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा में बैंक लूटकर फंड जुटाना चाहता थे। ये अपने मंसूबों में कामयाब होते, उससे पहले ही आईबी को भनक लग गई। इसी इनपुट पर संयुक्त दल ने कार्रवाई की।