इटली में 3 IITians के साथ नस्ली भेदभाव

नई दिल्ली(1 जून):  आईआईटी के तीन छात्रों के साथ इटली में नस्ली भेदभाव का मामला सामने आया है। तीन में दो छात्र आईआईटी दिल्ली के हैं और एक आईआईटी बॉम्बे का छात्र है। 

सेकंड ईयर की पढ़ाई कर रहे आईआईटी बॉम्बे के उदय कुसूपति और आईआईटी दिल्ली के अक्षित गोयल और दीपक भट्ट को वेंटिमिग्लिया में ट्रेन का इंतजार कर रहे थे। तभी वहां सिक्युरिटी एजेंसियों के लोग आए उन्हें 1100 किमी दूर बारी के पास एक शहर में ले गए। इन स्टूडेंट्स ने इंडियन एम्बेसी से इस मामले की शिकायत की है।

ये घटना सोमवार शाम की है। कम्प्यूटर साइंस के स्टूडेंट्स उदय, अक्षित और दीपक वैलिड पासपोर्ट और बाकी डॉक्युमेंट्स के साथ इटली गए थे। वे इनरिया सोफिया एटिपोलिस मेडिटैरेनी कंपनी में मई से इंटर्नशिप कर रहे हैं। वे वीकेंड मनाने जिनोआ जा रहे थे। इसके लिए वे वेंटिमिग्लिया स्टेशन पर इंतजार कर रहे थे। तभी उन्हें हिरासत में लिया गया। वहां पर अचानक पुलिस ने कैम्पेन शुरू कर दिया था।

आईआईटी की ऑन कैम्पस इनसाइट मैगजीन के एडिटर श्रीरंग जावडेकर ने बताया कि सिक्युरिटी एजेंसी के लोग इंग्लिश नहीं बोल पा रहे थे। इस वजह से वे तीनों स्टूडेंट्स की बात नहीं समझ पा रहे थे। उन्होंने तीनों से कुछ बातें कहीं और उनके पासपोर्ट जब्त कर उन्हें वहां से ले गए।  तीनों को कुछ अफ्रीकी और पाकिस्तानी लोगों के साथ फ्लाइट से इटली के बारी ले जाया गया। 10 घंटे तक वे किसी से मदद नहीं ले पाए। इसके बाद वहां से किसी तरह इन्होंने अपने परिवार से कॉन्टैक्ट किया।

स्टूडेंट्स के परिजन ने बताया कि हिरासत में लिए जाने का कोई कारण नहीं बताया गया। अब उन्हें फ्रांस ले जाया जाएगा। आईआईटी के स्टूडेंट्स अब इस मामले में नस्ली भेदभाव की शिकायत इटली की एम्बेसी से करेंगे। इटली के काउंसिल जनरल उगो कियारलातनी ने बताया, इटली के लोग रेसिस्ट नहीं हैं। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि हर दिन बड़ी संख्या में सीरिया के लोग इटली में आ रहे हैं।

आईआईटीयंस के एक फैमिली मेंबर्स के मुताबिक उन्हें बारी ले जाने का कोई मतलब नहीं था। सिक्युरिटी एजेंसीज के लोगों ने कहा कि उनकी आईडी बारी में ही चेक होगी। उदय ने हमसे और फ्रांस में अपने दोस्तों से कॉन्टैक्ट किया। उन लोगों ने एम्बेसी से संपर्क करने में मदद की। एम्बेसी ऑफिशियल्स ने फैमिली मेंबर्स को समझाया कि उनके बच्चों को कुछ नहीं होगा।

आईआईटी के डीन के मुताबिक इन सभी को अपने पासपोर्ट और बाकी के जरूरी डॉक्यूमेंट्स की कॉपी अपने पास रखनी चाहिए। फिलहाल ये स्टूडेंट्स बेवजह हुई परेशानी के लिए शिकायत करने का प्लान बना रहे हैं।