2जी फैसले पर बोले सुब्रमण्यम स्वामी, जांच एजेंसियों के अधिकारियों की मिलीभगत है

नई दिल्ली ( 21 दिसंबर ): देश के सबसे बड़े घोटाले 2जी केस में आज दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया। कोर्ट ने ए राजा और कनिमोझी समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया। फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने इसे बुरा फैसला बताया है।

स्वामी ने कहा कि आज के फैसले से साफ है कि सीबीआई और ईडी के अधिकारियों के वकील के रुख से गड़बड़ी का अंदेशा लगता है। उन्होंने कहा है कि सीबीआई के अधिकारियों ने ईमानदार तरीके से इस केस में काम नहीं किया। उन्होंने प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों पर भी केस में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

स्वामी ने पूर्व अटॉर्नी जनरल पूर्व मुकल रोहतगी पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा, ''मैंने आज देखा कि मुकुल रोहतगी ने इस फैसले का स्नागत किया है। पहले भी मारन बंधुओं का बचाव किया था। इससे साफ है कि मिलीभगत की। 

उन्होंने कहा कि 2014 में भ्रष्टाचार बड़ा मुद्दा था। पीएम मोदी को इस बात को समझना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी के कुछ लोग भ्रष्टाचार से लड़ाई में बहुत सक्रिय नहीं हैं। 

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, "मैं प्रधानमंत्री से कहना चाहता हूं कि हमने भ्रष्टाचार खत्म करने का वादा किया था। 2019 में हमसे हिसाब मांगा जाएगा। हमें लोगों को बताना पड़ेगा, इसलिए आज से भ्रष्टाचार के खिलाफ युद्धस्त़र पर कार्रवाई करनी होगी।