चीन पर भारत की नजर, सीमा से लगीं 73 में 27 सड़कों का निर्माण कार्य पूरा

नई दिल्ली(30 जुलाई): केंद्र सरकार ने शुक्रवार को कहा कि भारत-चीन सीमा से लगीं 73 में से 27 सड़कों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है और बाकी सड़कों के 2022 तक पूरे हो जाने की उम्मीद है।

- लोकसभा में एक लिखित उत्तर में रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे ने कहा कि उत्तरी सीमा से लगी चीन-भारत सीमा की 73 सड़कों के निर्माण को मंजूरी दी गई है। 

- उन्होंने कहा, 'इसमें से 27 सड़कों को पूरा कर लिया गया है और बाकी के दिसंबर 2022 तक पूरा हो जाने की योजना है।' उन्होंने कहा कि सड़क परियोजनाओं के निष्पादन में देरी की वजह जंगल, वन्यजीव व पर्यावरण संबंधी मंजूरी में देरी है।

- इसके अलावा कड़ी चट्टानों के खिचाव, तय कार्य के मौसम, भूमि अधिग्रहण में देरी, निर्माण सामग्री की उपलब्धता में मुश्किल और प्राकृतिक आपदाओं जैसे बाढ़ से नुकसान इस कार्य में बाधा डालते हैं।

- उन्होंने कहा कि चीन-भारत सीमा से लगी चार सामरिक रेलवे लाइनों को मंजूरी दी गई है। यह प्रश्न पूछे जाने पर कि क्या भारत सीमा से लगे भाग में चीनी बुनियादी ढांचे के विकास से अवगत है? मंत्री ने जवाब दिया, 'सरकार भारत की सुरक्षा पर असर डालने वाले सभी घटनाक्रम पर नजर रखती है और देश को सुरक्षित रखने के लिए सभी तरह के जरूरी उपाय करती है।'

-चीन द्वारा भूटानी क्षेत्र में सड़क निर्माण शुरू किए जाने को लेकर भारत-चीन सीमा पर गतिरोध जारी है। भारतीय जवानों ने चीनी सेना के सड़क निर्माण कार्य को रोक दिया, जिसके बाद से यह गतिरोध शुरू हुआ है।