कश्मीर में ऑपरेशन ऑलआउट हुआ तेज, सेना के निशाने पर मोस्ट वांटेड 21 आतंकी

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 23 जून ): जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद सेना ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑलआउट तेज कर दिया है। शुक्रवार को इस्लामिक स्टेट ऑफ जम्मू-कश्मीर (आईएसजेके) के चीफ दाऊद अहमद सलाफी और उन तीन सहयोगी आतंकियों के मारे जाने के बाद 21 टॉप आतंकी सुरक्षा बलों की हिटलिस्ट में रह गए हैं। सुरक्षाबलों इन टाॅप 21 आतंकियों की हिटलिस्ट जारी की है।सुरक्षाबलों ने 21 टॉप आतंकियों के खात्मे के लिए ऑपरेशन चलाने का फैसला किया है। इनमें 11 आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन के हैं, 7 लश्कर-ए-तैयबा, 2 जैश-ए-मोहम्मद और एक आतंकी अंसार गाजवत उल-हिंद (एजीएच) के हैं। सूत्रों ने बताया, 'सुरक्षा बलों का मुख्य फोकस इन 21 आतंकियों को खत्म करने पर है।इंटेलिजेंस एजेंसियों को इन 21 पर ज्यादा से ज्यादा जानकारियां इकट्ठा करने को कहा गया है। इन 21 में से 6 आतंकियों को 'A++' कैटेगिरी में रखा गया है। इनकी कैटेगिरी इस आधार पर बनाई गई है कि किस आतंकी ने कितनी वारदात में हिस्सा लिया है और किस आतंकी की क्षेत्र में कितनी पकड़ है।'

उन्होंने कहा, 'यदि ये 21 आतंकी मारे जाते हैं तो इलाके में शांति का माहौल दिखने लगेगा। ऐसा होने के बाद आतंक के सरगनाओं को अगला नाम चुनने और उसे सेट करने में काफी वक्त लगेगा। जब किसी आतंकी को A++ कैटिगरी में रखा जाता है और उस पर 12 लाख रुपये का इनाम रखा जाता है तो यह माना जाता है कि उसके पास अब ज्यादा दिन की जिंदगी नहीं है।'

लिस्ट में ज्यादातर आतंकी कश्मीर के ही रहने वाले हैं। इनमें कुछ रिसर्च स्कॉलर भी रह चुके हैं। साथ ही तीन आतंकी पाकिस्तान के भी हैं, जो कश्मीर में लश्कर-ए-तैयबा जाल फैलाने में मदद करते हैं।