2016: भारत की आधी का साल भर रहा दबदबा

नई दिल्ली (31 दिसंबर): 2016 में भारत की महिलाओं ने राजनीति, खेल, फिल्मऔर रक्षा क्षेत्र में जमकर नाम कमाया।  इसी साल लेफ्टिनेंट कर्नल सोफिया कुरैशी ऐसी पहली महिला अधिकारी बनीं जिन्होंने एक्सरसाइज फोर्स 18 नामक बहुराष्ट्रीय सैन्य अभियान का नेतत्व करने वाली भारतीय सैन्य टुकड़ी का नेतत्व किया। दो से आठ मार्च तक पुणे में हुई फील्ड ट्रेनिंग एक्सरसाइज में शांतिरक्षण अभियानों और माइनफील़्ड में अहम भूमिका निभाने वाली 40 सदस्यीय भारतीय टुकड़ी सहित कुल 18 टुकड़ियों ने हिस्सा लिया था। इस साल ही 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर पहली बार सीआरपीएफ की महिला जवानों की टुकड़ी राजपथ पर मार्च में शामिल हुई।विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को अमेरिका की फॉरेन पॉलिसी पत्रिका द्वारा तैयार की गई साल 2016 की ग्लोबल थिंकर्स लिस्ट में जगह मिली है। पत्रिका ने टिवटर कूटनीति के अनोखे ब्रांड को प्रचलित करने के लिए सुषमा को बधाई भी दी।

2-अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा अमेरिकी शो क्वांटिको में एफबीआई एजेंट की भूमिका के लिए पीपल्स च्वाइस अवार्ड जीतने वाली पहली भारतीय बनीं। वह और फैशन डिजाइनर अनिता डोंगरे इस साल गूगल पर सबसे ज्यादा तलाश की गई हस्तियों में शामिल हैं। अनिता तब चर्चा में आई थीं जब इस साल भारत यात्रा के दौरान ब्रिटिश शाही घराने की सदस्य केट मिडिलटन ने उनका डिजाइन किया एक परिधान पहना था।

जम्मू कश्मीर में विकास एवं शांति की नयी गाथा लिखते हुए पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की महबूबा मुफ्ती चार अप्रैल को राज्य की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं। पूर्व केन्द्रीय मंत्री नजमा हेपतुल्ला ने 21 अगस्त को मणिपुर के राज्यपाल के तौर पर शपथ ली।

3- - खेलों की दुनिया में आधी आबादी ने देश का ध्वज बड़ी शान से उंचा किया। हरियाणा की पहलवान साक्षी मलिक ने अगस्त में रियो दि जिनेरियो में संपन्न ओलंपिक में 58 किग्रा वर्ग में रेपेचेज के कांस्य पदक के मुकाबले में किर्गिस्तान की ऐसुलू ताइनीबेकोवा को हराकर कांस्य पदक जीता।

   

- रियो ओलंपिक की बैडमिंटन महिला एकल स्पर्धा में पी वी सिंधु ने रजत पदक जीत कर भारत को गौरवान्वित किया। वह फाइनल में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी स्पेन की कैरोलिना मारिन से हार गईं। वह ओलंपिक में पदक जीतने वाले सबसे युवा भारतीय खिलाड़ी हैं।

   

- रियो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाली 23 वषीर्य दीपा करमाकर भारत की पहली महिला जिमनास्ट बनीं और वह फाइनल तक पहुंची। व्यक्तिगत वाल्ट में चौथे स्थान पर रहने वाली त्रिपुरा की 23 वषीर्य दीपा 0.150 अंकों से ओलंपिक पदक से चूक गयीं। उन्होंने हालांकि खतरनाक प्रोडुनोवा में शानदार प्रदर्शन किया। व्यक्तिगत वाल्ट में दीपा का प्रदर्शन किसी भी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में भारत की तरफ से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा।

   

- भारत की दीपा मलिक ने 12 सितंबर को ब्राजील के रियो डी जेनेरियो में गोला फेंक एफ—53 स्पद्धार् में रजत पदक जीता और परालंपिक में पदक हासिल करने वाले देश की पहली महिला खिलाड़ी बन कर इतिहास रचते हुए बता दिया कि बुलंद हौसलों के आगे शारीरिक अक्षमता बहुत बौनी हो जाती है।  दीपा के कमर से नीचे का हिस्सा लकवा से ग्रस्त है। सत्रह साल पहले रीढ़ में टयूमर के कारण उनका चलना असंभव हो गया था। दीपा के 31 आपरेशन हुए जिसके लिये उनकी कमर और पांव के बीच 183 टांके लगे थे।

   

- उत्तरी त्रिपुरा के दूरदराज के एक आदिवासी गांव की 15 वषीर्य ल्ष्मिमता रेयांग ने चीन में हुए एशिया कप में अंडर—16 महिला चैंपियनशिप में देश का प्रतिनिधित्व किया। खेल जगत में तेलंगाना की ब्रांड एंबेसेडर सानिया मिजार् महिला युगल रैंकिंग में लगातार दूसरे साल पहले पायदान पर रहीं।

   

- श्रीलंका के कोलम्बो में संपन्न 39 वीं एशियन रिमोट सेलिंग कांग्रेस में भारत का प्रतिनिधित्व कर रही प्रियंका वर्मा को जापान सोसायटी ऑफ फोटो ग्रानटरी एडं रिमोर्ट सेलिंग आवार्ड से नवाजा गया।

- आधी आबादी के कुछ सशक्त हस्ताक्षर इस साल हमेशा के लिए दूर हो गए। प्रख्यात लेखिका और समाज के दबे कुचले और वंचित वर्गो की पैरोकार महाश्वेता देवी का 28 जुलाई को निधन हो गया। वह 91 वर्ष की थीं। साहित्य अकादमी और ज्ञानपीठ पुरस्कारों से सम्मानित महाश्वेता देवी ने आदिवासियों और ग्रामीण क्षेत्र के वंचितों को एकजुट करने में मदद की ताकि वह अपने इलाकों में विकास गतिविधियां चला सकें। उन्होंने आदिवासियों के कल्याण के लिए अथक कार्य किया था।

   

4- तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता का पांच दिसंबर को निधन हो गया। तीन दशकों से तमिलनाडु की राजनीति का एक धु्रव रहीं और गरीबों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू करने वाली लोकप्रिय नेता जयललिता ने इसी साल विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी अन्नाद्रमुक को शानदार जीत दिलाई थी। इस वर्ष हरियाणा ने अपने दो जिलों क़रनाल और महेंद्रगढ़ में केंद्र की महिला पुलिस वालंटियर योजना लागू की जिसमें 1,000 महिलाओं को शामिल किया गया है। यह कदम उठाने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य है।