ये था साल 2016 का सबसे बड़ा दंगल...

नई दिल्ली (31 दिसंबर): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्लैक मनी पर ऐसा दांव चला, जिसमें बड़े से बड़े धाकड़ चारों खाने चित्त हो गए। एक से एक बागड़बिल्लों ने लाखों-करोड़ों का काला धन छुपा रखा था, लेकिन नोटबंदी के दंगल में सब पिस गए।

साल 2016 की सबसे कामयाब फिल्मों में से एक ही थी दंगल तो सरकार का नोटबंदी का फ़ैसला देश में सबसे बड़े दंगल के रूप में सामने आया। नोटबंदी के बाद एक-एक नोट के लिए बैंकों और एटीएम के बाहर दंगल हुआ। ये दंगल हुआ अपने पैसों के लिए, ये दंगल अपने खून-पसीने की कमाई को सुरक्षित बैंक तक पहुंचाने के लिए, ये दंगल हुआ काले को सफेद करने के लिए।

आज़ादी के इतने सालों बाद पहली बार किसी सरकार ने इतना बोल्ड फैसला लिया था। सरकार ने इस दंगल से ब्लैक मनी पर जीत हासिल कर गोल्ड मेडल की उम्मीद जताई थी, लेकिन इस दंगल में पिस गया देश का आम आदमी।

ये दंगल सरकार के फैसले और जनता के बीच हुआ। कई लोगों ने देशहित के नाम पर इस दंगल को सपोर्ट किया तो कई लोगों ने बचपन में सीखा युद्ध कौशल एटीएम और बैंकों के बाहर दिखाया, लेकिन ये ज़रूर है 2016 का नोटबंदी का ये दंगल इतिहास में हमेशा के लिए दर्ज हो गया।