PoK के लिए मोदी सरकार 2000 करोड़ के पैकेज की तैयारी में

नई दिल्ली (29 अगस्त): मोदी सरकार ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के शरणार्थियों के लिए 2000 करोड़ रुपये का पैकेज देने की तैयारी कर रही है। माना जा रहा है कि मोदी सरकार कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान को अब कूटनीतिक जवाब देने की तैयारी कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस पैकेज को गृह मंत्रालय जल्द ही मंजूरी के लिए ब्योरा केंद्रीय कैबिनेट को भेज सकता है। इस कूटनीतिक रणनीति को अमली जामा पहनाने के लिए सरकार ने देश में रह रहे ऐसे करीब 36,348 शरणार्थियों की पहचान भी कर ली है। 

पैकेज संबंधी मसौदा सितंबर महीने में केंद्रीय कैबिनेट के विचारार्थ पेश किए जाने की योजना है जिसकी मंजूरी के बाद प्रत्येक विस्थापित परिवार को 5.5 लाख रुपये दिए जाएंगे। अधिकारी ने बताया, ‘हमें उम्मीद है कि कैबिनेट से एक महीने के अंदर पैकेज को मंजूरी मिल जाएगी और लाभार्थियों में फंड बांट दिया जाएगा।’ 

ये सभी शरणार्थी पश्चिमी पाकिस्तान, खासकर ज्यादातर पीओके के हैं जो जम्मू, कठुआ और राजौरी जिलों के विभिन्न हिस्सों में बस गए हैं। हालांकि जम्मू-कश्मीर के संविधान की शर्तों के मुताबिक, ये सभी राज्य के स्थायी निवासी नहीं हो सकते। इसके अलावा सरकार बेंगलुरू में होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस में पीओके के प्रतिनिधियों को आमंत्रित करने का मन बना रही है। विदेश मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक इस फैसले पर भी लगभग सहमति बन चुकी है।