अब नहीं बचेगा पाकिस्तान, अमेरिका ने दी परिणाम भुगतने की चेतवानी

नई दिल्ली ( 23 अगस्त ): आतंकियों के लिए स्वर्ग पाकिस्तान को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दिए जाने के एक दिन बाद अमेरिका के दो प्रमुख नेताओं ने कहा है कि यदि पाकिस्तान आतंकी समूहों को शरणस्थली उपलब्ध करवाना जारी रखता है, तो उसे बड़े गैर-नाटो सहयोगी का दर्जा खो देने जैसे कई परिणाम भुगतने पड़ेंगे।

पाकिस्तान के खिलाफ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के नये सख्त रुख की सराहना करते हुए शीर्ष अमेरिकी सांसदों ने मांग की है कि पाकिस्तान को ‘‘आतंकवाद का प्रायोजक देश’’ घोषित किया जाए और गैर-नाटो सहयोगी का दर्जा उससे वापस लिया जाए ताकि उस पर आतंकवादी समूहों को समर्थन देना बंद करने का दबाव बनाया जा सके।

आतंकवादी समूहों का समर्थन करने और अपनी सरजमीं पर उन्हें पनाहगाह मुहैया कराने के लिये राष्ट्रपति ट्रंप ने कल पाकिस्तान की निंदा की थी। पाकिस्तान को लेकर यह निंदा ट्रंप के उस भाषण का हिस्सा थी जिसमें उन्होंने अफगानिस्तान में 16 वर्ष से जारी युद्ध के खात्मे और व्यापक दक्षिण एशिया क्षेत्र में शांति एवं स्थिरता लाने के लिये अमेरिका की नयी रणनीति की जानकारी दी थी।

कांग्रेस सदस्य टेड पोए ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति ट्रंप का भाषण अमेरिकी नीति में सकारात्मक बदलाव दिखाता है, लेकिन यह महज शब्दों तक सीमित नहीं रहना चाहिए।
अगर पाकिस्तान उन आतंकवादियों की मदद करना बंद नहीं करता है जिनके हाथ अमेरिकियों के खून से रंगे हैं, तो हमें पाकिस्तान को दी जाने वाली सहायता पूरी तरह से रोक देनी चाहिए, गैर-नाटो सहयोगी का उसका दर्जा वापस ले लेना चाहिए और पाकिस्तान को आतंकवाद प्रायोजक देश घोषित करना चाहिए।’’ कांग्रेस सदस्य केविन क्रैमर ने भी पाकिस्तान पर दबाव बनाने के लिये ट्रंप की तारीफ की।