खबरदार! नकद लेन-देन पर कटेगी जेब, लगेगा 2 फीसदी सरचार्ज

नई दिल्ली (21 दिसंबर): कैशलेस अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए सरकार नकदी के इस्तेमाल पर आधे से दो फीसदी तक शुल्क लगाने की तैयारी में है। रखरखाव के नाम पर लगाया जाने वाला यह शुल्क निर्धारित राशि से ज्यादा बैंक, एटीएम से नकदी निकालने या फिर नकद भुगतान पर वसूला जाएगा।

नये कदम के तहत नोट खर्च करने पर आम जनता की जेब सिर्फ इसलिए काटी जाएगी, ताकि लोग डिजिटल लेनदेन का रुख करें। नोटबंदी के बाद से वित्त मंत्रालय नित नये नियम लागू कर रहा है। पुरानी नकदी बदले जाने से लेकर विभिन्न जरूरी सेवाओं में पुराने नोट की स्वीकार्यता खत्म किए जाने के बाद पिछले सोमवार को बैंक में नकदी जमा करने पर भी नया नियम लगा दिया है। अगले दस दिनों में एटीएम से 2500 और बैंक से 24 हजार निकालने की सीमा भी खत्म होने वाली है। ऐसे में डिजिटल अर्थव्यवस्था बढ़ाने के लिए सरकार नया कदम उठाने की तैयारी में है।