इस वजह से खास है इस बार की शिवरात्रि

नई दिल्ली(23 फरवरी): महाशिवरात्रि का पर्व इस बार दो दिन मनाया जाएगा। इस दौरान सर्वार्थ सिद्ध योग पड़ने से यह बेहद खास है।

- ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, चतुर्दशी 24 फरवरी की रात 9.30 बजे शुरू होगी और 25 फरवरी को रात 9.15 तक रहेगी।

- महाशिवरात्रि के पूरी रात सर्वार्थ सिद्धि योग इसे खास बनाता है।

- ऐसे में 25 फरवरी की रात में चतुर्दशी तिथि न होने से 24 फरवरी को महाशिवरात्रि का पर्व शास्त्र सम्मत रहेगा।

- ज्योतिष के जानकारों के मुताबिक, महाशिवरात्रि के दिन ही आधी रात के समय ब्रह्माजी के अंश से शिवलिंग प्रकट हुआ था। इसलिए रात्रि व्यापिनी चतुर्दशी का अधिक महत्व होता है। इस साल सबसे खास बात यह है कि दोनों दिन सिद्ध योग पड़ रहे हैं। 24 फरवरी को सर्वार्थ सिद्ध योग और 25 फरवरी को सिद्ध योग पड़ रहा है।

- करीब 30 साल बाद इस बार महाशिवरात्रि का पर्व दो दिन तक मनाया जाएगा। इसके लिए 24 और 25 फरवरी को होने वाली महाशिवरात्रि लोगों के लिए बेहद खास मानी जा रही है। पंडितों की मानें तो रात्रि व्यापिनी होने के कारण पुण्य प्राप्त करने का विशेष योग है। उन्होंने पर्व के बारे में बताया कि मां पार्वती और शिव के मिलन को महाशिवरात्रि के रूप में मनाया जाता है।