1971 भारत-पाक युद्ध के हीरो JFR जैकब का निधन

नई दिल्ली (13 जनवरी): 1971 के भारत-पाक युद्ध के हीरो रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल जेएफआर जैकब का बुधवार को निधन हो गया। जैकब ने ढ़ाका में पाकिस्तानी सेना के आत्मसमर्पण के दौरान बातचीत की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर ट्विटर पर संदेश भी जारी किया। 

रिपोर्ट के मुताबिक, रिटायर्ड ले. जनरल जैकब 92 वर्ष के थे और लंबी बीमारी से पीड़ित थे। उन्होंने बुधवार सुबह आखिरी सांस ली। सेना के सूत्रों की तरफ से यह जानकारी दी गई। 1923 में जन्मे जैकब 1971 के भारत-पाक युद्ध में भारत की जीत और बांग्लादेश की आजादी के लिए जाने जाते हैं। उस समय जैकब मेजर जनरल के पद पर थे और उन्होंने भारतीय सेना की पूर्वी कमांड के चीफ ऑफ स्टाफ पद पर युद्ध के दौरान अपनी सेवाएं दी थीं।     पीएम मोदी ने उनके निधन पर ट्विटर पर कहा, ''देश उनकी अवगुणरहित सेवाओं के लिए उनका आभारी है।'' ब्रिटिश काल में बंगाल प्रेसीडेंसी में जन्मे जैकब 19 साल की उम्र में सेना में भर्ती हो गए थे। उन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध भी लड़ा था। इसके अलावा 1978 में रिटायर होने से पहले 1965 के भारत-पाक युद्ध भी। रिटायर होने के बाद वह गोवा और पंजाब के गवर्नर भी रहे।