नोटबंदी के बाद पहले 19 घंटों में बिक गया 15 टन सोना

नई दिल्ली (8 दिसंबर): प्रधानमंत्री मोदी के 8 नवंबर के 500 और 1000 के नोटों पर पाबंदी के ऐलान के बाद अगले दो दिनों में सोने की खरीद और बिक्री में भारी उछाल देखने को मिला। एक रिपोर्ट के मुताबिक 8 और 9 नवंबर को देश में करीब 15 टन सोना बेचा गया, इनमें ज्वैलरी भी शामिल है।इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन के राष्ट्रीय सचिव से मिली जानकारी के मुताबिक इस दौरान सोने की बिक्री से ज्वैलर्स ने करीब 5 हजार करोड़ रुपए जुटाए। इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन में देशभर के करीब 2500 ज्वैलर्स रजिस्टर्ड हैं। करीब आधी बिक्री दिल्ली, उत्तर प्रदेश और पंजाब में हुई।एसोसिएशन ने दावा किया कि नोटबंदी की रात करीब छह लाख ज्वैलर्स ने पुराने नोट स्वीकार किए। एसोसिएशन ने सरकार से ऐसे ज्वैलर्स पर सख्त कार्रवाई की मांग की है। यह सामान्य बिक्री से करीब पांच गुना है। आमतौर पर हर साल भारत में 800 टन सोना बिकता है, हालांकि इस साल करीब 500 टन ही बिकने का अनुमान लगाया जा रहा है।